DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वृद्धावस्था पेंशन मसले पर इनेलो का सदन से बहिर्गमन

हरियाणा में वृद्धावस्था पेंशन की पात्रता हेतु आय प्रमाणपत्र की अनिवार्यता समाप्त करने की मांग को लेकर राज्य विधानसभा में विपक्षी इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) ने शुक्रवार को सदन से बहिर्गमन किया।

शून्यकाल में राजपाल भूखड़ी, रामपाल माजरा, अशोक अरोड़ा और परमिंदर ढल द्वारा राज्य में वृद्धावस्था पेंशन वितरण में अनियमितताओं एवं विसंगतियों को लेकर दिए गए ध्यानाकर्षण प्रस्तावों पर चर्चा के दौरान इन सदस्यों ने यह मामला भी जोर शोर से उठाया कि कई ऐसे लोगों को भी यह पेंशन मिल रही है जो इसके पात्र नहीं है।

उन्होंने कहा कि अनेक पात्र लोगों को इसमें शामिल नहीं किया गया है। इन सदस्यों ने कहा कि पेंशन बुजुर्गों को उनके सम्मान के रूप में दी जाती है तथा राज्य में जो भी कोई 60 वर्ष का हो जाता है उसे यह पेंशन मिलनी चाहिए बशर्तें ऐसा कोई बुजुर्ग व्यक्ति आयकर के दायरे में न हो।

सदस्यों ने सरकार द्वारा बुजुर्गों के बैंक खातों में सीधे पेंशन स्थानांतरित करने की व्यवस्था पर भी सवाल उठाया और कहा कि इससे बुजुर्गों को भारी परेशानी हो रही है। कई गांवों में बैंक न होने के कारण बुजुर्गों को गांव से बाहर मीलों दूर बैंक में जाना पड़ता है जहां उनके खाते खोले गए हैं। लेकिन वहां पहुंचने पर जब उन्हें पता चलता है कि पेंशन खाते में आई नहीं तो उन्हें खाली हाथ ही वापिस लौटना पड़ता है।

कांग्रेस सदस्य आनंद सिंह डांगी ने भी सदस्यों की बात का समर्थन करते हुए आय की घोषणा सम्बंधी प्रावधान समाप्त करने की मांग की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वृद्धावस्था पेंशन मसले पर इनेलो का सदन से बहिर्गमन