DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   रेड कोर्ट के बादशाह नडाल का सामना जोकोविच से
खेल

रेड कोर्ट के बादशाह नडाल का सामना जोकोविच से

Sat, 09 Jun 2012 12:52 PM
रेड कोर्ट के बादशाह नडाल का सामना जोकोविच से

नोवाक जोकोविच और रफेल नडाल रविवार को फ्रेंच ओपन खिताब के लिए आमने सामने होंगे। दोनों के बीच यह लगातार चौथा ग्रैंडस्लैम फाइनल है जो एक रिकॉर्ड है।
   
दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी जोकोविच यदि जीतते हैं तो जोकोविच 43 साल में पहले और टेनिस के इतिहास में तीसरे खिलाड़ी हो जायेंगे जिसके नाम एक ही समय में चारों ग्रैंडस्लैम खिताब हैं।
     
वहीं नडाल जीत जाते हैं तो वह सात फ्रेंच ओपन अपने नाम करने वाले पहले खिलाड़ी होंगे। फिलहाल वह स्वीडन के ब्योर्न बोर्ग के साथ छह खिताब के रिकॉर्ड की बराबरी पर हैं।
    
रोलेन गैरोस के बादशाह स्पेन के नडाल ने रिकॉर्ड 51 जीत दर्ज की है और सिर्फ एक हारे हैं। छह दौर में सिर्फ 35 गेम गंवाकर वह सातवीं बार फाइनल में पहुंचे हैं और खिताब के प्रबल दावेदार हैं।
     
वह बार्सीलोना, मोंटे कार्लो और रोम में क्लेकोर्ट खिताब जीतकर फ्रेंच ओपन खेलने आये। मोंटे कार्लो और रोम में फाइनल में उन्होंने जोकोविच को हराकर उसके खिलाफ सात फाइनल हारने का सिलसिला तोड़ा था।
     
जोकोविच ने पिछले तीन ग्रैंडस्लैम खिताब जीते। विम्बलडन और अमेरिकी ओपन के बाद पांच घंटे 53 मिनट तक चला ऑस्ट्रेलियाई ओपन फाइनल जीता।
     
सेमीफाइनल में रोजर फेडरर को हराने वाले शीर्ष वरीयता प्राप्त जोकोविच ने कहा कि यह अलग सतह है और हालात अलग है। नडाल फ्रेंच ओपन में हमेशा अच्छा खेलता है और कल भी अच्छा खेलेगा। मुझे उसे हराने के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा।

जोकोविच ने कहा कि यह बेहतरीन चुनौती है। उसने मोंटे कार्लो और रोम में क्लेकोर्ट पर मुझे हराया लेकिन मैंने पिछले साल दो बार क्लेकोर्ट पर उसके खिलाफ जीत दर्ज की। इससे मुझे आत्मबल मिलेगा।
    
जोकोविच का मानना है कि यदि एक ही समय पर चारों गैंड्रस्लैम अपने नाम करने का रिकॉर्ड वह बना सके तो इसका श्रेय नडाल और फेडरर को जाएगा। नडाल और फेडरर हालांकि यह कारनामा नहीं कर सके हैं।
    
सर्बिया के इस धुरंधर ने कहा कि नडाल के खिलाफ क्लेकोर्ट पर पहले नौ मुकाबले हारने से उन्होंने काफी कुछ सीखा। वहीं फेडरर ने पहले नौ में से सात मैचों में उसे हराया था।
    
उसने कहा कि इन दोनों के खिलाफ खेलकर मैं परिपक्व हुआ हूं। उनके खिलाफ खेलने से मैं बेहतर खिलाड़ी बना हूं। यही टेनिस की खूबसूरती है कि हम एक दूसरे को बेहतर बनाते हैं।
     
वहीं नडाल ने कहा कि मोंटेकार्लो और रोम में जोकोविच पर मिली जीत उनके लिए कारगर साबित होगी। उसने कहा कि मैंने ये दो टूर्नामेंट इसलिय जीते क्योंकि मैं जोकोविच से बेहतर खेला। उसे हराने से मेरा आत्मविश्वास बढ़ा है।

संबंधित खबरें