DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नार्वे नरसंहार के आरोपी ने ली थी अलकायदा से प्रेरणा

नार्वे का दक्षिणपंथी चरमपंथी एंडर्स बेहरिंग ब्रेविक ने बम विस्फोट और गोलीबारी की घटना को अंजाम देने से पहले अलकायदा द्वारा किए गए हमले और विस्फोटों का इंटरनेट के जरिए अध्ययन किया था।

सुनवाई के पांचवें दिन शुक्रवार को ब्रेविक ने नार्वे की अदालत में स्वीकार किया कि वह न्यूयार्क में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर विस्फोट और 1995 में ओकलाहोमा में की सरकारी इमारत में विस्फोट की घटना के बाद ध्यान खींचना चाहता था।

ब्रेविक ने खुलासा किया कि उसने बम बनाने के 600 से ज्यादा तरीके पढ़े थे। अलकायदा के बारे में ब्रेविक ने कहा कि मैंने उसकी हरेक गतिविधि का अध्ययन किया कि उसने क्या सही किया और क्या गलत।

इस्लामी समूहों को दुनिया में सबसे ज्यादा सफल क्रांतिकारी आंदोलन करार देते हुए उसने कहा कि हम अल कायदा का यूरोपीय संस्करण तैयार करना चाहते हैं।

ब्रेविक ने नार्वे में 22 जुलाई को हमले की घटना में अपनी संलिप्तता को स्वीकार किया है, लेकिन उसने दलील दी है कि उस पर आपराधिक आरोप नहीं लगाया जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नार्वे नरसंहार के आरोपी ने ली थी अलकायदा से प्रेरणा