अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सल प्रभावित राज्यों में अर्धसैन्य बलों का जनकल्याण कार्यक्रम

नक्सल प्रभावित राज्यों में अर्धसैन्य बलों का जनकल्याण कार्यक्रम

नक्सल प्रभावित राज्यों के दूर दराज के इलाकों में केंद्रीय अर्धसैन्य बल बंदूकों के बजाए कपड़े, दवाइयां और ट्रांजिस्टर आदि के साथ नए अवतार में नजर आएंगे, ताकि वे ग्रामीणों का दिल जीत सकें।

सैन्य बल नक्सलवाद प्रभावित इलाकों में प्रतिवर्ष 20 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से पेयजल मुहैया कराने और चिकित्सकीय शिविर एवं कुशलता के विकास के लिए कार्यक्रम आयोजित करने के लिए बड़े स्तर पर एक जनकल्याण कार्यक्रम शुरू करेंगे।

गृह मंत्रालय ने इस कार्यक्रम को मंजूरी दे दी है। नक्सलवाद के खिलाफ अभियानों में शामिल चार अर्धसैन्य बल केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, सीमा सुरक्षा बल, भारत तिब्बत सीमा पुलिस और सौराष्ट्र सीमा बल यह कार्यक्रम आयोजित करेंगे।

यह कार्यक्रम नक्सलवाद से सबसे अधिक प्रभावित नौ राज्यों छत्तीसगढ़, झारखंड, ओडिशा, बिहार, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में आयोजित किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नक्सल प्रभावित राज्यों में अर्धसैन्य बलों का जनकल्याण कार्यक्रम