DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूबे के तीन मेडिकल कॉलेजों में होगी पीजी की पढ़ाई

भागलपुर, गया और मुजफ्फरपुर मेडिकल कॉलेजों में जल्द ही 14 विषयों में पीजी की पढ़ाई होगी। गुरुवार को विधानसभा में स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने बताया कि मेडिकल कॉलेजों में शिक्षकों की कमी से निबटने के लिए कॉन्ट्रैक्ट पर प्राध्यापक, सह प्राध्यापक और सहायक प्राध्यापक की तैनाती की जा रही है।

कुछ ही दिनों में मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) की टीम राज्य के दौरे पर आने वाली है। तब तक सभी इंतजाम पूरे कर लिए जाएंगे।

इसके पहले सदस्य सदानन्द सिंह, मो. तौसीफ आलम, मो.आफाक आलम और मो. जावेद ने जवाहर लाल नेहरू चिकित्सा महाविद्यालय, भागलपुर में पीजी की पढ़ाई का मामला उठाया। इन सदस्यों का कहना था कि मेडिकल कॉलेज में प्राध्यापक के 23, सह प्राध्यापक के 34 और सहायक प्राध्यापक के 46 पदों की तुलना में क्रमश: 11, 14 और 20 चिकित्सक ही कार्यरत हैं। लिहाजा, बाकी 58 पदों पर विभिन्न विभागों के चिकित्सकों को प्रोन्नति देकर तैनात किया जाना जरूरी है।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि सरकार ने 394 सहायक प्राध्यापकों के पदों पर नियुक्ति के लिए सिफारिश की है। मामला अदालत में होने की वजह से सभी मेडिकल कॉलेजों में कॉन्ट्रैक्ट पर शिक्षकों की तैनाती की प्रक्रिया शुरू की गई है। यह काम जल्द पूरा हो जाएगा।

सरकार एमसीआई के मापदंडों के अनुरूप तमाम जरूरतों को पूरा करेगी। शिक्षकों की कमी के कारण मेडिकल कॉलेजों में पढ़ाई बाधित नहीं होने दी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूबे के तीन मेडिकल कॉलेजों में होगी पीजी की पढ़ाई