DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

100 साल के हुए भारत के पहले मि यूनीवर्स मनोहर

भारत के प्रथम मिस्टर यूनीवर्स मनोहर ऐच ने आज अपनी जिंदगी के 100वें बसंत मेंकदम रखा। मनोहर जीविकोपार्जन के लिए युवावस्था में सर्कस में काम करते थे और उन्होंने द्वितीय विश्व युद्ध के समय भारतीय वायुसेना (तत्कालीन रायल एयर फोर्स) में भी काम किया। वह 39 वर्ष की उम्र में मिस्टर यूनीवर्स का खिताब पाने वाले पहले भारतीय बने थे।

पाकेट हरक्युलिस नाम से विख्यात मनोहर ने उत्तरी कोलकाता के बागुइयाती स्थित अपने आवास पर बधाइयां देने आए शुभचिंतकों से कहा कि मैं सादगीपूर्ण और तनाव मुक्त जीवन शैली अपनाता हूं। ताजी सब्जियां और मीठे जल की मछलियां खाता हूं तथा थोड़ा बहुत व्यायाम भी करता हूं।

मनोहर का जन्म 1913 में कोमिला जिले (वर्तमान बांग्लादेश) में हुआ था। उन्हें 12 वर्ष की उम्र में ही ब्लैक फीवर का सामना करना पड़ा लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और शारीरिक व्यायाम आदि से खुद को स्वस्थ रखा। व्यायामों के लिए ही उन्होंने सर्कस अपनाया था।

1950 में मनोहर मिस्टर हरक्यूलिस का खिताब जीता और 1951 में मिस्टर यूनिवर्स प्रतियोगिता में उतरे। वह 1952 में यह खिताब हासिल करने में सफल रहे। वह 10 बाद भी इस प्रतियोगिता में उतरे और तब चौथे स्थान पर रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:100 साल के हुए भारत के पहले मि यूनीवर्स मनोहर