DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'आश्चर्यों से भरे हैं रहमान'

दक्षिण भारतीय फिल्मकार मणिरत्नम को संगीतकार ए.आर. रहमान के साथ काम करते हुए दो दशक हो चुके हैं। मणिरत्नम कहते हैं कि वह अब भी नहीं जान पाए हैं कि रहमान किस तरह काम करते हैं।

रहमान ने 1992 में मणिरत्नम की फिल्म ‘रोजा’ में पहली बार संगीत दिया था। तब से वह मणिरत्नम की सारी फिल्मों के संगीतकार रहे।

मणिरत्नम ने बताया कि 20 सालों तक साथ काम करने के बाद भी मैं उनके काम करने के तरीकों को नहीं जान पाया हूं। वह आश्चर्यो से भरे हैं। मैंने उनका ताजा संगीत ‘मुंगील थोत्तम’ सुना और अचम्भित रह गया।

उन्होंने कहा कि कभी-कभी वह मुझे अपना संगीत सुनाते हैं और कहते हैं विमान में यात्रा के दौरान मैंने यह धुन तैयार की है। मैं अचम्भित होता हूं कि बिना किसी वाद्य यंत्र के वह कोई धुन कैसे बना लेते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'आश्चर्यों से भरे हैं रहमान'