DA Image
2 दिसंबर, 2020|2:46|IST

अगली स्टोरी

मप्र में गेहूं खरीद में बोरों की कमी बाधक

मध्य प्रदेश में गेहूं की खरीदी में बोरों की कमी बाधक बन रही है। इसे दूर करने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने केंद्रीय खाद्य आपूर्ति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) केवी थॉमस को पत्र लिखकर बोरों के 37 हजार गठान तुरंत मुहैया कराने का अनुरोध किया है।

मुख्यमंत्री चौहान ने मंगलवार को लिखे पत्र में थॉमस को 15 मई 2012 तक दो लाख 69 हजार बारदाना गठान मुहैया कराने के उनके आश्वासन की याद दिलाई। थामस ने एक बैठक में चौहान एवं लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष सुषमा स्वराज को यह आश्वासन दिया था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 25 अप्रैल, 2012 को हुई बैठक के बाद से अभी तक बोरों की 50 हजार गठानें प्राप्त हुई हैं। इसके अलावा नौ हजार गठानों वाले दो रैक प्रदेश में पहुंचने वाले हैं। इस प्रकार कुल दो लाख 32 हजार गठानें भेजी गई हैं।

चौहान ने थॉमस का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि राज्य शेष 37 हजार गठानों (सात से आठ रैक) की प्रतीक्षा कर रहा है। चौहान ने प्रदेश में असमायिक वर्षा शुरू होने का जिक्र करते हुए शेष 37 हजार गठान बोरों की शीघ्र आपूर्ति की मांग की।

चौहान ने अपने पत्र में केंद्रीय खाद्य राज्य मंत्री को बताया है कि राज्य में अब तक साढेम् छह लाख किसानों से 57 लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूं खरीदा जा चुका है।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:मप्र में गेहूं खरीद में बोरों की कमी बाधक