DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शुक्ला का चमत्कारिक प्रदर्शन, बंगाल बना चैंपियन

आलराउंडर लक्ष्मीरतन शुक्ला के चमत्कारिक प्रदर्शन से बंगाल ने सोमवार को फाइनल का मिथक तोड़ते हुए मुंबई को छह विकेट से हराकर विजय हजारे एकदिवसीय क्रिकेट टूर्नामेंट का खिताब जीता।

शुक्ला ने पहले 38 रन के एवज में चार विकेट विकेट लेकर मुंबई को 49.2 ओवर में 248 रन पर समेटने में अहम भूमिका निभाई तथा बाद 90 गेंद पर 106 रन की नाबाद पारी खेलकर अपनी टीम को आसानी से लक्ष्य तक पहुंचाया। बंगाल ने 46.1 ओवर में चार विकेट पर 252 रन बनाए।

बंगाल इससे पहले 2008 से लेकर 2010 तक लगातार तीन बार इस एकदिवसीय टूर्नामेंट के फाइनल में हार गया था लेकिन सौरव गांगुली की अगुवाई में आखिरी बाधा पार करने में सफल रहा। गांगुली ने बाद में इस जीत का श्रेय खिलाड़ियों को दिया।

उन्होंने कहा कि सभी खिलाड़ियों को इस जीत का श्रेय जाता है। हमारी टीम ने शुरू से ही अच्छा प्रदर्शन किया और बंगाल के पास कुछ अच्छे खिलाड़ी है जिनसे काफी संभावनाएं हैं। बंगाल की क्रिकेट सही दिशा में आगे बढ़ रही है।

मुंबई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। बेहतरीन फार्म में चल रहे वसीम जाफर ने फिर से टीम की तरफ से सर्वाधिक 61 रन बनाए। उनके अलावा सूर्यकुमार यादव ने 50, और आदित्य तारे ने 35 रन बनाए।

बंगाल की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उसने पहले ओवर में ही विकेट गंवा दिया। गांगुली ने मांसपेशियों में खिंचाव के बावजूद 38 रन की आकर्षक पारी खेली जबकि श्रीवत्स गोस्वामी ने 42 रन का योगदान दिया। जब 33वें ओवर में टीम का स्कोर चार विकेट पर 145 रन था तब शुक्ला ने अनुस्तुप मजूमदार (नाबाद 50) के साथ 107 रन की अटूट साझेदारी की।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शुक्ला का चमत्कारिक प्रदर्शन, बंगाल बना चैंपियन