पंजाब के पास जीत के अलावा कोई विकल्प नहीं - पंजाब के पास जीत के अलावा कोई विकल्प नहीं DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंजाब के पास जीत के अलावा कोई विकल्प नहीं

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर को कड़ी शिकस्त देने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब गुरूवार को एक बार फिर अपने मैदान पर जीत दोहराना चाहेगी। पंजाब का अगला मुकाबला राजस्थान रॉयल्स के साथ है और एलिमिनेशन तक पहुंचने के लिए अब उसके पास शेष सभी मैचों को जीतने के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचा है।
 
पंजाब ने अपने तूफानी बल्लेबाज डेविड मिलर की मदद से टूर्नामेंट में अपनी धूमिल हो चुकी संभावनाओं को फिर से जिंदा कर दिया है। बेंगलोर को रोमांचक मुकाबले में छह विकेट से शिकस्त देने के बाद पंजाब का हौंसला काफी बुलंद दिखाई दे रहा है। लेकिन उसका मुकाबला लीग की एक मजबूत टीम राजस्थान रॉयल्स से होने जा रहा है जिसमें उसे अतिरिक्त सावधानी बरतने की जरूरत होगी। पंजाब ने अभी तक 11 मैचों में से पांच जीते हैं जिससे उसे 10 अंक हासिल हैं और इसलिए अपनी संभावनाओं को दुरूस्त रखने के लिए अब जीतना जरूरी है।
 
राजस्थान ने अपने पिछले मैच में दिल्ली डेयरडेविल्स को नौ विकेटों से शिकस्त देकर अपना पिछला मैच जीता था। राजस्थान की 12 मैचों में यह आठवीं जीते हैं जिससे उसे 16 अंक हासिल हैं और वह इसी के साथ अंकतालिका में चेन्नई सुपर किंग्स के बाद दूसरे स्थान पर पहुंच गई हैं और खिताब की दावेदारों में शामिल हो गई है।
 
पंजाब को एक बार फिर से मिलर के तूफान की जरूरत है। मिलर ने पिछले मैच में नाबाद 101, रनों की पारी खेलकर मुश्किल लक्ष्य को भी आसान बना दिया था। मिलर ने पिछले मैच में बेंगलोर के खिलाफ 38 गेंदों में 100 रन लगाकार आईपीएल का तीसरा सबसे तेज शतक बनाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया था।
 
हालांकि जीत के लिए पूरी टीम मात्र एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं रह सकती है। पंजाब के पास युवा खिलाड़ी भी अच्छी संख्या में हैं। कप्तान डेविड हसी, मिलर, मनदीप सिंह, गुरकीरत सिंह, राजगोपाल सतीश और शॉन मार्श के रूप में टीम के पास बेहतरीन बल्लेबाज हैं। पंजाब में प्रवीण कुमार, मनप्रीत गोनी, पीयूष चावला, माइकल नेसर और परविंदर अवाना के रूप में बढ़िया गेंदबाजों की भी कोई कमी नहीं है। हालांकि गेंदबाजों को विपक्षी टीम को कम स्कोर पर रोकने का प्रयास करना होगा।
 
दूसरी ओर राजस्थान रॉयल्स के पास राहुल द्रविड़, अजिंक्य रहाणे, युवा बल्लेबाज संजू सैम्पसन, ऑलराउंडर शेन वॉटसन, ब्रैड हॉज, स्टुअर्ट बिन्नी जैसा मजबूत बल्लेबाजी क्रम और जेम्स फॉल्कनर, सिद्धार्थ त्रिवेदी, प्रवीण तांबे, ऑलराउंडर वॉटसन के रूप में बेहतरीन गेंदबाजी क्रम भी हैं। कप्तान द्रविड़ के नेतृत्व में टीम ने संयम और संतुलित होकर प्रदर्शन किया है और इसलिए पंजाब के सामने इस शांत टीम के तूफान का सामना करना चुनौतीभरा होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंजाब के पास जीत के अलावा कोई विकल्प नहीं