DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किम के निधन के बाद दक्षिण कोरिया में हाई अलर्ट

उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग-इल के निधन के बाद सोमवार को दक्षिण कोरिया में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। दूसरी ओर अमेरिका भी दक्षिण कोरिया और जापान के साथ लगातार सम्पर्क में है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जे कार्ने ने एक बयान में कहा है कि किम जोंग-इल के निधन की रपट पर हम बराबर नजर रखे हुए हैं। उत्तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए द्वारा किम के निधन की रपट जारी किए जाने के तत्काल बाद दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति ली म्यंग-बाक ने एहतियाती उपायों पर चर्चा के लिए कैबिनेट मंत्रियों के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएससी) की बैठक बुलाई।

केसीएनए ने सोमवार को एक रपट में कहा कि किम जोंग-इल का शनिवार को एक रेल यात्रा के दौरान अत्यधिक शारीरिक एवं मानसिक थकान के कारण निधन हो गया। वह 68 वर्ष के थे। ली ने सम्भवत: सभी सरकारी कर्मचारियों को अत्यधिक सतर्क रहने का आदेश दिया है।

दक्षिण कोरिया के जॉइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने सेना को अलर्ट कर दिया है और एक आपात बैठक बुलाई है। सियोल स्थित समाचार एजेंसी, योनहैप के अनुसार, प्रशासन ने सीमा पर चौकसी बढ़ा दी है, लेकिन अभी तक किसी असामान्य गतिविधि के बारे में कोई खबर नहीं है।

जॉइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के अधिकारी सम्भवत: रक्षा तैयारी और चौकसी स्तर, दोनों को बढ़ाने पर विचार कर रहे हैं। दक्षिण कोरियाई पुलिस ने भी सतर्कता बढ़ा दी है। केसीएनए ने रपट में कहा है कि एक रेल यात्रा के दौरान अत्यधिक शारीरिक एवं मानसिक थकान के कारण किम जोंग-इल का 17 दिसम्बर, 2011 को सुबह साढे आठ बजे निधन हो गया।

किम का एक लम्बे समय तक हृदय की बीमारी का इलाज चला था। रेल यात्रा के दौरान उन्हें गम्भीर रूप से दिल का दौरा पड़ा। रपट में कहा गया है कि दौरे के बाद प्राथमिक उपचार के यथासम्भव सभी तत्काल बंदोबस्त किए गए, लेकिन जोंग-इल को बचाया न जा सका। रपट में कहा गया है कि रविवार को पोस्टमार्टम से उनकी बीमारी की पूरी तरह पुष्टि हो गई।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किम के निधन के बाद दक्षिण कोरिया में हाई अलर्ट