DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

CM की कुर्सी के लिए फिर बागी हुए येदियुरप्पा

कर्नाटक के पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्‍पा के बगावती तेवरों से भाजपा की मुश्किलें बढ़ने लगी हैं।  
 
येदियुरप्‍पा के समर्थन में कर्नाटक के 61 विधायक आज दिल्‍ली आ रहे हैं। पार्टी के राज्‍य से 12 सांसद भी दिल्‍ली आएंगे। ये सभी पार्टी अध्‍यक्ष नितिन गडकरी से मिलेंगे। सूत्रों के मुताबिक येदियुरप्‍पा को फिर से राज्‍य की कमान सौंपे जाने की मांग को लेकर ये आलाकमान पर दबाव बना रहे हैं। खबर यह भी है कि यदि इनकी मांगें नहीं मानी गईं तो ये इस्‍तीफा भी सौंप सकते हैं। 

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने अपने साथ 55 से ज़्यादा विधायकों का समर्थन दिखाया है। वहीं येदियुरप्पा समर्थक विधायकों ने उन्हें फिर से मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग की है। येदियुरप्पा और उनके समर्थक जल्द दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी से मुलाकात कर सकते हैं।

आधे विधायकों का समर्थन प्राप्त होने का दावा करने और पार्टी आलाकमान से 48 घंटे के अंदर पार्टी विधायक दल की बैठक बुलाने की मांग कर पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा की ओर से अपना सत्ता संघर्ष तेज करने के साथ ही कर्नाटक की सत्तारूढ़ भाजपा सरकार संकट में फंस गई है।

फिर से मुख्यमंत्री बनाए जाने के लिए ताजा प्रयास कर रहे येदियुरप्पा ने कहा कि 55 विधायक यहां हैं। कल 15 और जुड़ जाएंगे। मुझे विश्वास है कि भाजपा केंद्रीय नेतृत्व इस घटनाक्रम का संज्ञान लेगा और यथासंभव उपयुक्त फैसला करेगा। कर्नाटक की 224 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के पास अध्यक्ष समेत 120 विधायक हैं। उन्होंने कहा कि 48 घंटे तक इंतजार कीजिए। यह समय सीमा नहीं है, लेकिन मैं सुनिश्चित हूं कि पार्टी नेतृत्व फैसला करेगा।

इसी के साथ उन्होंने यह संकेत दिया है कि भाजपा नेतृत्व उनके उत्तराधिकारी डीवी सदानंद गौड़ा को 21 मार्च विधानसभा में अपना पहला बजट पेश करने से पहले ही उन्हें फिर से मुख्यमंत्री की कुर्सी पर नियुक्त करने की उनकी मांग पर कुछ फैसला करना पड़ेगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CM की कुर्सी के लिए फिर बागी हुए येदियुरप्पा