DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैं टीवी के लिए नहीं लिख सकता : जावेद

लेखक-गीतकार जावेद अख्तर का कहना है कि इस बात की कम ही सम्भावना है कि वह कभी टेलीविजन कार्यक्रम के लिए लिखें क्योंकि वह कभी भी टीवी कार्यक्रम नहीं देखते।

अख्तर ने बताया कि मैं कभी भी टीवी कार्यक्रम नहीं देखता। मैं कभी भी इनका अनुसरण नहीं करता। मुझे महत्वपूर्ण बिंदू पर कड़ी खत्म करने और दर्शक को अगले दिन या अगले सप्ताह तक इंतजार कराने की धारणा बिल्कुल भी पसंद नहीं है। मैं नहीं समझता कि मैं टीवी के लिए लिख सकता हूं।

जावेद टीवी पर सिर्फ 'बुनियाद' कार्यक्रम ही देखते थे। रमेश सिप्पी निर्देशित यह लोकप्रिय कार्यक्रम वर्ष 1986 में पहली बार प्रसारित हुआ था।

भले ही जावेद को टीवी कार्यक्रमों के लिए लिखना पसंद न हो लेकिन वह छोटे पर्दे पर विभिन्न भूमिकाओं में दिखते रहे हैं। वह रियल्टी शो 'इंडियन आइडल' के चौथे संस्करण में अनु मलिक, कैलाश खेर और सोनाली बेंद्रे के साथ जज की भूमिका में नजर आए थे।

67 वर्षीय जावेद ने बीते वर्ष 'क्लासिक लिजेंड' कार्यक्रम के प्रस्तोता के रूप में छोटे पर्दे पर वापसी की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैं टीवी के लिए नहीं लिख सकता : जावेद