DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हम शहर को और बेहतर बनाएंगे : टाटा

‘हम जमशेदपुर शहर को और बेहतर बनाएंगे। यह देश के अन्य शहरों से बिल्कुल अलग है, जहां आकर गर्व का एहसास होता है। यह साफ सुथरा और आकर्षक शहर है जिसे और बेहतर बनाने की जरूरत है।’

ये उद्गार हैं टाटा संस के चेयरमैन रतन नवल टाटा के। वे शनिवार को जमशेदपुर शहर और टाटा स्टील के संस्थापक जमशेदजी नसरवानजी टाटा की 173वीं जयंती पर बिष्टूपुर पोस्ट ऑफिस के समक्ष उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे।

शहर से अपने गहरे जुड़ाव का उल्लेख करते हुए रतन टाटा ने बताया कि वे यहां साढ़े छह वर्षो तक ट्रेनी रहे थे। शहर की विशेषताओं के बारे में उन्होंने कहा कि जमशेदपुर में सांप्रदायिक सौहार्द और स्वच्छता दिखाई देती है। इस शहर को बेहतर बनाने में आम लोगों का भी सहयोग मिलता रहा है।

उन्होंने कहा कि भावी चेयरमैन साइरस पी मिस्त्री पहली बार जमशेदपुर आए हैं। इस शहर को और बेहतर बनाने का वे प्रयास करेंगे और दिसंबर के बाद उनकी जगह उन्हें ही यह दायित्व निभाना है।

इससे पूर्व समारोह स्थल पहुंचने पर कंपनी के वरिष्ठ अधिकारियों बी. मुत्थुरमण, संजीव पॉल एवं जुस्को के प्रबंध निदेशक मनीष शर्मा ने उनका स्वागत किया। उनसे मिलने और जेएन टाटा को श्रद्धांजलि देने पहुंचे नेताओं व प्रबुद्ध लोगों का परिचय टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट (कारपोरेट सर्विसेज) संजीव पॉल ने कराया।

इनमें विधायक बन्ना गुप्ता, टीडब्ल्यूयू के अध्यक्ष रघुनाथ पांडेय, सिंहभूम चैम्बर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष आरके अग्रवाल, चैम्बर के महासचिव सुरेश सोंथालिया, विजय आनंद मूनका, कांग्रेस के प्रदेश महासचिव राजेश कुमार शुक्ल, इंटक नेता विजय खान, मारवाड़ी महिला मंच की जया डोकानियां बिल्डर रोहित सिंह आदि प्रमुख थे।

इससे पूर्व मनीष शर्मा ने सभी अतिथियों का स्वागत किया। इसके बाद रतन टाटा, बन्ना गुप्ता, साइरस पी मिस्त्री, टाटा संस के निदेशक इशात हुसैन व बी मुत्थुरमन एवं टाटा स्टील के प्रबंध निदेशक हेमंत एम नेरुरकर ने जेएन टाटा की प्रतिमा पर माल्यार्पण किए। इसके बाद झांकी निकलने का सिलसिला शुरू हुआ जो करीब 45 मिनट तक चला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हम शहर को और बेहतर बनाएंगे : टाटा