DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साइरस को रतन के साथ कम समय बिताने का मलाल

करीब चार लाख करोड़ रुपए के विशालकाय टाटा औद्योगिक समूह के उत्तराधिकारी नियुक्त किए गए साइरस पी. मिस्त्री को इस बात का मलाल है कि इसी वर्ष दिसंबर में चेयरमैन पद संभालने से पहले उन्हें मौजूदा अध्यक्ष रतन टाटा से कारोबार के गुर सीखने के लिए बहुत कम समय मिला है।

समूह के निवर्तमान डिप्टी चेयरमैन मिस्त्री ने शनिवार रात यहां एक कार्यक्रम में कहा कि मुझे टाटा जैसे ज्ञान के समृद्ध भंडार के साथ उत्तराधिकारी के तौर पर एक साल से कुछ ही अधिक समय बिताने का मौका मिला है। मैं इसका अधिक से अधिक सदुपयोग कर रहा हूं लेकिन मुझे लगता है कि उनसे सीखने के लिए यह समय काफी कम है।

गत नवंबर में टाटा के उत्तराधिकारी बनाए गए 44 वर्षीय मिस्त्री ने कहा कि पिछले चार महीने उत्साह और डर दोनों से भरे रहे हैं। लोग मेरा स्वागत कर रहे हैं और मैं भी अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी समझता हूं लेकिन भारी उम्मीदों से मुझे डर भी लगता है।

समूह की मुख्य होल्डिंग कंपनी टाटा सन्स के प्रमुख शेयरधारक तथा निर्माण क्षेत्र की बड़ी हस्ती पालोनजी मिस्त्री के छोटे पुत्र साइरस आगामी दिसंबर में टाटा के रिटायर होने पर चेयरमैन का पद संभालेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:साइरस को रतन के साथ कम समय बिताने का मलाल