DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहले मुकाबले में इंग्लैंड की रोमांचक जीत

पहले मुकाबले में इंग्लैंड की रोमांचक जीत

तेज गेंदबाज जिमी एंडरसन और विवादास्पद डीआरएस ने ऑस्ट्रेलिया की रोमांचक जीत की उम्मीदों पर पानी फेर दिया और इंग्लैंड ने तनाव भरे क्षणों से गुजरने के बाद पहले टेस्ट क्रिकेट मैच को 14 रन से जीत कर एशेज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली।

ऑस्ट्रेलिया 311 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए खेल के पांचवें दिन लंच के कुछ देर बाद 296 रन पर आउट हो गया। एंडरसन ने दोनों पारियों में पांच-पांच विकेट लिए और उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। ऑस्ट्रेलिया की आखिरी जोड़ी ने फिर कमाल का प्रदर्शन करके इंग्लैंड के खिलाड़ियों और उसके प्रशंसकों की सांसे थाम दी थी। ऑस्ट्रेलिया ने जब अपना नौवां विकेट गंवाया तो वह लक्ष्य से 80 रन पीछे थे और उसकी हार सुनिश्चित लग रही थी लेकिन बैड्र हैडिन (75) और जेम्स पैटिनसन (नाबाद 25) ने हार नहीं मानी।

इन दोनों के प्रयास से ऑस्ट्रेलिया जब जीत से 15 रन दूर था तभी एंडरसन की वह गेंद पड़ी जिसने हैडिन को आउट किया, इंग्लैंड को जीत दिलाई और इस पूरे क्रम में विवादास्पद भी बन गई। हैडिन ने एंडरसन की गेंद ड्राइव करने की कोशिश की। गेंद उनके बल्ले के बेहद करीब से निकलकर विकेटकीपर मैट प्रायर के दस्तानों में पहुंची। इंग्लैंड के क्षेत्ररक्षकों ने आधे मन से अपील की लेकिन इंग्लैंड के पास निर्णय समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) का एक रिव्यू बचा हुआ था। एलिस्टेयर कुक ने इसका इस्तेमाल किया।

हाट स्पाट से साफ नहीं हो रहा था लेकिन तीसरे अंपायर मारियास इरासमस ने स्निकोमीटर का सहारा लिया जिसमें कुछ ध्वनि आ रही थी। उन्होंने हैडिन को आउट दे दिया और इसके साथ ही इंग्लैंड के खिलाड़ी और दर्शक बल्लियों उछलने लगे।

ऑस्ट्रेलिया का इस मैच में डीआरएस का अनुभव अच्छा नहीं रहा तथा हैडिन और पैटिनसन के बीच 65 रन की साझेदारी टूटने से तो उसका दिल ही टूट गया। हैडिन को आखिर तक विश्वास नहीं हो रहा था लेकिन आखिर में उन्हें बुझे हुए मन से पवेलियन की राह पकड़नी पड़ी।

हैडिन और पैटिनसन की साक्षेदारी से पहले इंग्लैंड के लिए सब कुछ सही चल रहा था। एंडरसन ने सुबह नई गेंद से पहली पारी के नायक एस्टन एगर (14), मिशेल स्टार्क (1) और पीटर सिडल (11) को आउट करके ऑस्ट्रेलिया की उम्मीदों को तोड़ दिया था। एंडरसन ने इन तीनों को कुक के हाथों कैच कराया।

पहली पारी में फिलिप हयूज (नाबाद 81) और एगर (98) ने दसवें विकेट के लिए रिकार्ड 163 रन की साझेदारी की थी। इस बार हैडिन और पैटिनसन ने इंग्लैंड के गेंदबाजों का सरदर्द बढ़ाया।
एंडरसन ने लगातार 13 ओवर किये। उनकी जगह फिन को लाया गया लेकिन हैडिन और पैटिनसन रन बटोरते रहे। प्रत्येक रन के साथ ऑस्ट्रेलिया की उम्मीदें और इंग्लैंड की धड़कन बढ़ जाती। पैटिनसन ने इस बीच ऑफ स्पिनर ग्रीम स्वान पर छक्का भी जड़ दिया जिससे लक्ष्य केवल 31 रन रह गया था।

जॉनी बेयरस्टॉ को यहां पर हैडिन को रन आउट करने का मौका मिला लेकिन उनका थ्रो विकेट पर नहीं लगा। इसके बाद जब ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिये 26 रन चाहिए थे तब स्वान की गेंद पर फिन ने सीमा रेखा के करीब हैडिन का कैच छोड़ा। यह विकेटकीपर बल्लेबाज तब 64 रन पर खेल रहा था। लंच के समय ऑस्ट्रेलिया का स्कोर नौ विकेट पर 291 रन था और उसे जीत के लिये 20 रन चाहिए थे। इसके बाद हालांकि ऑस्ट्रेलियाई पारी 17 गेंद तक ही सीमित रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पहले मुकाबले में इंग्लैंड की रोमांचक जीत