DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईवीआरआई ने किया अनुबंध पर हस्ताक्षर

बकरियों को चेचक से बचाने वाले टीको के व्यावसायिक उपयोग के लिए भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान और आन्ध्र प्रदेश में हैदराबाद स्थित वेटनरी बायोलाजिकल इंस्टीटूट (वीबीआरआई) के बीच शनिवार को एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए गए। इस अवसर पर आईवीआरआई के निदेशक एवं कुलपति प्रो. महेश चन्द्र शर्मा ने कहा कि देश में करीब 14 करोड बकरियां हैं। जिनमें से लगभग एक करोड़ बकरियां आन्ध्र प्रदेश में हैं। उन्होने आशा व्यक्त की कि इस अनुबंध से आन्ध्र प्रदेश के बकरी पालकों को काफी लाभ होगा तथा बकरियों की बीमारी के उन्मूलन में सहायता मिल सकेगी।
 
उन्होंने बताया कि इस प्रदेश से कई देशों को मांस का निर्यात किया जाता है। उन्होंने बताया स्वस्थ्य पशुओं के मांस की विदेशों में काफी मांग होने के कारण हमें बाहरी देशों को मांस का निर्यात करने से पहले पशु के रोग रहित होने का प्रमाण पत्र भी देना होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईवीआरआई ने किया अनुबंध पर हस्ताक्षर