DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खिलाड़ियों को बहाना बनाने का मौका नहीं देगा आईओए

भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने लंदन ओलंपिक में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को हर संभव सहायता देने का वादा करते हुए कहा कि खिलाड़ियों को बहाना बनाने का कोई मौका नहीं दिया जाएगा।

लंदन ओलंपिक खेलों के लिए गठित निगरानी समिति को संबोधित करते हुए आईओए के कार्यवाहक अध्यक्ष विजय कुमार मल्होत्रा ने कहा कि जिन खेल महासंघों के खिलाड़ियों ने जुलाई-अगस्त में लंदन में होने वाले खेल महाकुंभ के लिए क्वालीफाई किया है, उन्हें आईओए की तरफ से पूरा सहयोग और मदद मिलेगी।

मल्होत्रा ने कहा कि खिलाड़ी देश का सम्मान बढ़ाए इसके लिए हम उनकी हर तरह से मदद करेंगे। आईओए ने प्रायोजकों से मिलने वाली धनराशि पहले ही क्वालीफाई करने वाले खिलाड़ियों को देने का फैसला किया है और इसके अलावा हम उन्हें कोचिंग और ट्रेनिंग के लिए अतिरिक्त धनराशि भी मुहैया कराएंगे।

मल्होत्रा ने हालांकि खिलाड़ियों से भी उम्मीद जताई कि वह देशवासियों के भरोसे पर खरा उतरेंगे। उन्होंने कहा कि आईओए की तरफ से हम खिलाड़ियों की जरूरत पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। मुझे उम्मीद है कि खिलाड़ी भी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करके बेहतर परिणाम देंगे। अब कोई बहाना नहीं होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि आईओए खेलों के दौरान खिलाड़ियों को भारतीय खाना मुहैया कराने के आग्रह पर गौर कर रहा है। हम इस बारे में लंदन में भारतीय उच्चायोग से बात करेंगे।

मल्होत्रा ने भाग लेने वाले महासंघों से अपनी जरूरतों से खेल मंत्रालय और भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) को अवगत कराने का भी आग्रह किया। उन्होंने कहा कि देश में खेलों का स्तर बेहतर करने के लिए लक्ष्य से हम सबका एकजुट होना जरूरी है।

मल्होत्रा ने खिलाड़ियों से अपनी तैयारियों पर ध्यान केंद्रित रखने का भी आग्रह किया। उन्होंने कहा कि हम उनकी हर संभव मदद करेंगे ताकि वे अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए एकाग्र होकर तैयारी कर सके।

इस बीच आईओए महासचिव रणधीर सिंह ने ओलंपिक में भाग लेने वाले महासंघों को अपने खिलाड़ियों की तैयारियों और स्थिति के बारे में आईओए को अवगत कराने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि आईओए को जानकारी होनी चाहिए और महासंघों को आखिरी क्षणों की अफरातफरी से बचना चाहिए।

भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआई) की ओलंपिक खेल गांव में अधिक कोच और ट्रेनर को रखने के आग्रह पर रणधीर सिंह ने कहा कि आयोजकों ने खेल गांव में रहने की व्यवस्था कोटा प्रणाली के आधार पर किया है जो सभी के लिए एक समान है तथा किसी भी खास टीम के लिए कोई छूट नहीं दी जाएगी।

समिति के समन्वयक केपी सिंह देव ने कहा कि अभी जरूरत खिलाड़ियों को जल्द से जल्द महत्वपूर्ण उपकरण मुहैया कराना है। उन्होंने कहा कि कई बार उपकरण मिलने में देरी से हम पदक से हाथ धो बैठते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खिलाड़ियों को बहाना बनाने का मौका नहीं देगा आईओए