DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईओए ने मुक्केबाजों को सहयोग का आश्वासन दिया

भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने शुक्रवार को मुक्केबाज शिव थापा, सुमित सांगवान और अनुभवी विजेंदर सिंह के हाल में कजाखस्तान के अस्ताना में समाप्त हुए एशियाई ओलंपिक क्वालीफायर में शानदार प्रदर्शन कर लंदन ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने की तारीफ की।
 
आईओए ने पहली भारतीय महिला पहलवान गीता के ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने की भी तारीफ की। गीता और दो अन्य पहलवान अमित कुमार और योगेश्वर दत्त ने हाल में अस्ताना में ही हुए क्वालीफाइंग टूर्नामेंट के जरिए लंदन ओलंपिक का टिकट कटाया।

आईओए के कार्यवाहक अध्यक्ष विजय कुमार मल्होत्रा ने एक बयान में कहा कि ओलंपिक क्वालीफायर में भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन काफी उत्साहवर्धनीय रहा और हमें उम्मीद है कि लंदन ओलंपिक खेलों में भारत की पदक तालिका काफी बेहतर रहेगी।
 
उन्होंने कहा कि युवा शिव थापा, सुमित सांगवान और पहलवान गीता ने सिर्फ क्वालीफाई ही नहीं किया बल्कि अपने वर्ग में स्वर्ण पदक भी हासिल किए। शिव युवा मुक्केबाज है और गीता ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करने वाली पहली महिला पहलवान है। यह भी खुद में एक बड़ी उपलब्धि है।
 
शिव (56 किग्रा) और सुमित (81 किग्रा) ने ओलंपिक क्वालीफाई करने के अलावा क्वालीफायर में सोने का पदक हासिल किया। विजेंदर (75 किग्रा), शिव और सुमित के अस्ताना में क्वालीफाई करने से लंदन ओलंपिक खेलों में भारत का सात सदस्यीय मुक्केबाजी दल देश का प्रतिनिधित्व करेगा।

अन्य चार मुक्केबाज एल देवेंद्रो सिंह (49 किग्रा), जय भगवान (60 किग्रा), मनोज कुमार (64 किग्रा) और विकास कृष्ण पहले ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके हैं। आईओए के कार्यवाहक अध्यक्ष ने यह भी कहा कि विजेंदर ने लगातार तीन ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर एक विशेष उपलब्धि भी हासिल की। उन्होंने कहा कि बीजिंग ओलंपिक कांस्य पदकधारी विजेंदर की मुक्केबाजी टीम में मौजूदगी अन्य छह मुक्केबाजों के लिए मनोबल बढ़ाने वाली होगी।
 
मल्होत्रा ने लंदन ओलंपिक के लिए और भारतीय पहलवानों के क्वालीफाई करने के उम्मीद जताई क्योंकि अभी चीन में 27 से 29 अप्रैल तक और फिनलैंड में चार से छह मई तक दो और क्वालीफाइंग टूर्नामेंट खेले जाने हैं।
 
उन्होंने साथ ही भरोसा जताया कि इस साल ओलंपिक में अच्छी संख्या में बैडमिंटन खिलाड़ी भी इंडियन ओपन के जरिए क्वालीफाई कर लेंगे जो 24 अप्रैल से शुरू होगा। मल्होत्रा ने पुरुष हॉकी टीम से भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जताई। उन्होंने कहा कि अब पूर्व कप्तान अजीत पाल सिंह दल प्रमुख होंगे तो टीम उनसे सलाह ले सकती है। उन्होंने उम्मीद जताई कि क्वालीफाई करने वाली एथलीट ध्यान लगाकर कड़ी ट्रेनिंग करेंगे क्योंकि उन्हें लंदन में कड़ी चुनौतियों से निपटना है।
 
भारत तीरंदाजी, तैराकी, एथलेटिक्स, मुक्केबाजी, बैडमिंटन, निशानेबाजी, हाकी, टेनिस, कुश्ती के अलावा जिम्नास्टिक, जूडो, नौकायान, पाल नौकायान, टेबल टेनिस और कुश्ती में भाग लेगा, बशर्तें खिलाड़ी इन खेलों में क्वालीफाई कर लें। अभी तक 16 सदस्यीय हॉकी टीम समेत 47 खिलाड़ियों ने लंदन खेलों के लिए क्वालीफाई कर लिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईओए ने मुक्केबाजों को सहयोग का आश्वासन दिया