DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुद्रास्फीति में 6.95 फीसदी का इजाफा

खाद्य वस्तुओं विशेष तौर पर सब्जी, अंडा, मांस-मछली, दाल जैसे उत्पादों की कीमत बढ़ने के कारण मुद्रास्फीति फरवरी महीने में बढ़कर 6.95 फीसदी हो गई।
   
थोकमूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) के आधार पर आकलित मुद्रास्फीति जनवरी में 6.55 फीसदी थी। पिछले वर्ष फरवरी महीने में मुद्रास्फीति 9.54 प्रतिशत थी। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक फरवरी में दालों की कीमत 7.91 फीसदी चढ़ी जबकि सब्जियों की कीमत 1.52 फीसदी बढ़ी। हालांकि सब्जियों की कीमत जनवरी में घटी थी।
  
इसके अलावा अंडा, मांस और मछली की कीमत फरवरी में 20 फीसदी बढ़ी जबकि जनवरी में यह 18.63 फीसदी थी। दूध की कीमत समीक्षाधीन अवधि में 11.70 फीसदी बढ़ी जबकि चावल और अनाज क्रमश: 1.53 फीसदी और 1.71 फीसदी मंहगे हुए।
   
हालांकि आलू और प्याज की कीमत सालाना स्तर पर फरवरी में क्रमश: 2.22 फीसदी और 48.50 फीसदी घटी। खाद्य उत्पादों का थोकमूल्य सूचकांक में 14.3 फीसदी का योगदान है।
    
विनिर्मित उत्पादों की कीमत फरवरी में सालाना स्तर पर 5.75 फीसदी बढ़ी जबकि जनवरी में यह 6.49 फीसदी थी। थोक मूल्य सूचकांक में विनिर्माण क्षेत्र का योगदान 65 फीसदी है।
   
सकल मुद्रास्फीति के दिसंबर के आंकड़े को संशोधित कर 7.74 फीसदी कर दिया गया जबकि अस्थाई अनुमान 7.47 फीसदी का था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुद्रास्फीति में 6.95 फीसदी का इजाफा