DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोलकाता और चेन्नई में भूकंप के झटके, मेट्रो सेवा बाधित

इंडोनेशिया में बुधवार को आए भूकंप के तेज झटके पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता और आसपास के इलाकों में भी महसूस किए गए। लोग घरों व दफ्तरों से बाहर निकल आए, जबकि मेट्रो सेवा बाधित हुई।

मौसम विभाग के क्षेत्रीय केंद्र के निदेशक जी. सी. देबनाथ ने कहा कि हां भूकम्प के झटके यहां भी महसूस किए गए, जिसका केंद्र सुमात्रा में था।

भूकम्प के बाद कोलकाता के कई मकानों व दफ्तरों से लोग बाहर निकल आए। भूकम्प के झटके शहर के कई हिस्सों, विशेषकर लेक टाउन, साल्ट लेक और पार्क स्ट्रीट में महसूस किए गए।

इंडोनेशिया में भीषण भूकम्प के बाद तमिलनाडु में विभिन्न स्थानों पर बुधवार को तेज झटके महसूस किए गए। लोग अपने-अपने घरों से बाहर निकल आए और कुछ विद्यालयों में विद्यार्थियों को खुले मैदानों में ले जाया गया।

रपटों के अनुसार, चेन्नई, मदुरै, कोयमबटूर, नागापट्टिनम और अन्य इलाकों में झटके महसूस किए गए। राज्य के तटीय क्षेत्रों में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है।

चेन्नई के अदियार इलाके की निवासी डब्ल्यू. शोभा ने कहा कि मैं जमीन पर लेटकर अखबार पढ़ रही थी, उसी समय मुझे झटके महसूस हुए। मैं तत्काल घर से बाहर आ गई और देखा कि कई अन्य लोग भी अपने घरों से बाहर आ गए थे।

दक्षिण चेन्नई के एक प्रमुख स्कूल के अध्यापक ने कहा कि झटके महसूस होने के बाद हमने बच्चों को मैदान में बाहर कर दिया।

भारतीय मौसम विभाग ने कहा कि भूकम्प का केंद्र उत्तरी सुमात्रा के पश्चिमी तट से लगे समुद्र में था और यह अपराह्न् 2.08 बजे आया। इस भूकम्प के कारण भारत सहित 28 देशों में सुनामी की चेतावनी जारी की गई, और इसके साथ ही 2004 की सुनामी की खौफनाक स्मृतियां लोगों के दिमाग में ताजा हो उठीं, जिसमें तमिलनाडु के तटीय इलाकों में 7,000 लोग मारे गए थे।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोलकाता और चेन्नई में भूकंप के झटके, मेट्रो सेवा बाधित