अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इग्नू प्रशासन के खिलाफ भूख हड़ताल पर छात्र

इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (इग्नू) में रेगुलर कोर्स बंद किए जाने की आशंका से छात्रों ने विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस संबंध में प्रशासन की ओर से सही जवाब नहीं मिलने की स्थिति में बुधवार से छात्र अनिश्चितकाल भूख हड़ताल पर बैठ गए। इस दौरान छात्रों ने जमकर नारेबाजी की।

भूख हड़ताल पर फेस टू फेस नाम मशहूर रेगुलर कोर्स के पांच छात्र पूनम सिंह, राहुल मिश्र, शिवाली विग, सौदामिनी पांडेय और रंजीत भूख हड़ताल पर बैठे हैं। जबकि इनके साथ रेगुलर कोर्स के करीब सौ छात्र भी बैठे हैं। भूख हड़ताल पर बैठे छात्रों का कहना है कि फेस टू फेस के तहत 26 फुल टाइम प्रोग्राम चलाए जा रहे हैं। जिसमें छात्रों की संख्या पांच सौ से अधिक है। लेकिन, पिछले एक महीने से इसे बंद करने की बात कही जा रही है।

इसके अलावा नए सत्र में दाखिले की प्रक्रिया शुरू करने के लिए अधिसूचना तक जारी नहीं की गई है। 23 मार्च को ही नए सत्र में दाखिले से संबंधित अधिसूचना दे दी गई थी। जिसकी सूचना ऑन कैंपस के स्कूलों के निदेशकों को भेज दिया गया। लेकिन, इसके बाद भी दाखिले की अगली अधिसूचना जारी नहीं की गई। इस कोर्स को बंद किए जाने को लेकर 24 मार्च को एकडेमिक काउंसिल में एक प्रस्ताव रखा गया। जिसे सभी सदस्यों ने खारिज कर दिया।

बताया जा रहा है कि इग्नू पत्रचार और रेगुलर कोर्स के जुलाई सत्र में दाखिले के लिए सूचना अप्रैल के तीसरे सप्ताह में जारी होने वाली थी। लेकिन, सिर्फ पत्रचार के लिए दाखिले की प्रक्रिया शुरू होने वाली है। जबकि रेगुलर कोर्स को रोका गया है। मालूम हो कि इग्नू में तीन साल पहले ऑन कैंपस प्रोग्राम शुरू किए गए थे। बाहरी संस्थानों के साथ करार करके भी कैंपस से बाहर देश के विभिन्न स्थानों पर इसका संचालन किया जाता है। ये सभी परास्नातक स्तर के प्रोग्राम हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इग्नू प्रशासन के खिलाफ भूख हड़ताल पर छात्र