DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हार के बावजूद धौनी ने गेंदबाजों का बचाव किया

भारतीय क्रिकेट टीम 290 रन के लक्ष्य का बचाव करने में नाकाम रही और बांग्लादेश से हार गई लेकिन कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने अपने गेंदबाजों का बचाव करते हुए कहा कि वे गलतियों से सीखेंगे और दबाव में अच्छा प्रदर्शन करना सीख रहे हैं।

बांग्लादेश ने शीर्ष और मध्यक्रम के बेहतरीन प्रदर्शन और कभी हार नहीं मानने के जज्बे से भारत को पांच विकेट से हराया। धौनी ने कहा कि बेहतर खेलने वाली टीम ने मैच जीता। उन्होंने कहा कि उन्होंने बेहतर क्रिकेट खेली। उन्होंने अच्छी शुरुआत की और उसका फायदा उठाया। उन्होंने क्रीज पर टिके रहने का तरजीह दी। पावरप्ले के शुरू में हमारे गेंदबाज दबाव महसूस कर रहे थे और इससे नुकसान हुआ। यदि हमने कुछ और रन बनाये होते तो बेहतर होता।

धौनी से जब पूछा गया कि क्या टीम में अच्छे गेंदबाजों की कमी है तो उन्होंने कहा कि हमारे पास प्रतिभा है। उन्हें लगातार एक जैसा प्रदर्शन करना होगा। युवाओं को काफी कुछ सीखने को मिलेगा। उन्होंने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है। उन्होंने आज दबाव महसूस किया।

भारतीय कप्तान ने बांग्लादेश की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि जब बांग्लादेश का दिन होता है तो वह वास्तव में अच्छा प्रदर्शन करता है। उन्होंने परिस्थितियों का अच्छा उपयोग किया। उनकी रिवर्स स्विंग गेंदबाजी अच्छी थी और उन्होंने अच्छी साझेदारियां भी निभाई।
 
धौनी ने सचिन तेंदुलकर के 100वें अंतरराष्ट्रीय शतक के बारे में कहा कि वह ऐसी उपलब्धि है जिसके बारे में हममें से अधिक सोच भी नहीं सकते। यह बेजोड़ उपलब्धि है। हम यह नहीं भूल सकते। तेंदुलकर को इस उपलब्धि के लिए बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने प्रतीक चिन्ह भेंट किया।

बांग्लादेश के कप्तान मुशफिकर रहीम ने इस जीत को अपने पूर्व साथी मंजूरल इस्लाम राणा को समर्पित किया जिनकी पांच साल पहले आज के दिन ही सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी। उन्होंने कहा कि यह हमारे बहुत बड़ी जीत है। हम इसे मंजूरल इस्लाम राणा को समर्पित करना चाहते हैं। आज का दिन बेहद खास है। हम वास्तव में अपनी जीत से बेहद खुश है। हमने आखिर तक हार नहीं मानी। गेंदबाजों ने अच्छी भूमिका निभाई और बल्लेबाजों ने अच्छी शुरुआत करके उसका फायदा उठाया।

साकिब ने 49 रन की तूफानी पारी खेली जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। उन्होंने कहा कि यह पूरी टीम का प्रयास है। हमने बहुत समझदारी से बल्लेबाजी की। मैं आज बहुत खुश हूं। मेरी पारी बेहद महत्वपूर्ण थी क्योंकि मैंने बाकी में यह विश्वास भरा कि हम जीत सकते हैं। हमने नासिर को ऊपरी क्रम में भेजने की योजना बनाई थी। यदि हम श्रीलंका के खिलाफ जीत गए तो फाइनल में पहुंच सकते हैं लेकिन हम किसी दूसरे पर निर्भर नहीं रहना चाहेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हार के बावजूद धौनी ने गेंदबाजों का बचाव किया