DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुधवार को पेश होगा रेल बजट

दुनिया के दूसरे सबसे बड़े रेल नेटवर्क के वित्तीय स्वास्थ्य को लेकर जताई जा रही चिंता के बीच रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी बुधवार को 2012-13 का रेल बजट पेश करेंगे। यह उनका पहला रेल बजट होगा, लेकिन बजट में यात्री किराया बढ़ाए जाने की उम्मीद नहीं है।

भारतीय रेलवे को पिछले साल 20 हजार करोड़ रुपये की बजटीय सहायता दी गई थी और छह फरवरी को केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने 3000 करोड़ रुपये के ऋण को मंजूरी दी थी। लेकिन खराब वित्तीय प्रबंधन के कारण भारतीय रेल की आय में 7000 करोड़ रुपये की कमी आई।

भारतीय रेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने वित्तीय संकट का जिक्र करते हुए कहा कि ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। हाल ही में दो विशेषज्ञ समितियों ने कहा कि सुरक्षा और आधुनिकीकरण से सम्बंधित उनकी सिफारिशों को लागू करने के लिए रेलवे को अगले पांच सालों में लगभग नौ लाख करोड़ रुपये की आवश्यकता होगी। इतनी बड़ी राशि कहां से आएगी इसे लेकर कोई स्पष्ट योजना नहीं है।

यात्री किराया 2002-03 के बाद बढ़ाया नहीं गया है। पूर्व रेल मंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी यात्री किराया बढ़ाए जाने के खिलाफ हैं। रेल मंत्री त्रिवेदी तृणमूल कांग्रेस के सदस्य हैं।

तृणमूल कांग्रेस लोकसभा में अपने 19 सांसदों के साथ मनमोहन सिंह की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार में मजबूत स्थिति रखती हैं और उसने खुदरा क्षेत्र में विदेशी निवेश जैसे कई सुधारवादी कदमों पर रोक लगा दी है।

रेलवे बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष आर.के. सिंह ने कहा कि यात्री किराये में लम्बे समय से संशोधन नहीं किया गया है, जबकि रेलवे को नए मार्गों और रेक निर्माण में निवेश करने की आवश्यकता है।

रेलवे की चिंता यह है कि इसकी पूरी कमाई इसके संचालन पर ही खर्च हो जाती है। इसके कारण इसके विस्तार के लिए कोई जगह नहीं बचती है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बुधवार को पेश होगा रेल बजट