DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय दर्शकों का उत्साह देखकर हैरान हैं शूमाकर

सात बार के चैम्पियन फार्मूला वन स्टार माइकल शूमाकर भारत में खेल को लेकर बढ़ते क्रेज से हैरान है और उनका मानना है कि इस तरह की दिलचस्पी पहले रेस में दुनिया में कही देखने को नहीं मिली। पिछले साल इंडियन ग्रांप्री के पहले सत्र में पांचवें स्थान पर रहे मर्सीडीज के इस अनुभवी ड्राइवर ने कहा कि पिछले साल मैं पहली बार भारत आया। बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट मुझे बहुत अच्छा लगा और सबसे यादगार बात तो यह रही कि पहले ही सत्र में इतनी भारी तादाद में दर्शक रेस देखने के लिए जुटे। ऐसा मैंने दुनिया की किसी रेस में नहीं देखा।

इस सत्र के बाद एफवन को अलविदा कहने जा रहे शूमाकर ने इसके लिए भारतीय दर्शकों को धन्यवाद दिया। उन्होंने यह भी कहा कि अब देखना यह है कि इस बार भी दर्शक उतनी तादाद में जुटते हैं या नहीं। हम सभी ने अच्छे प्रदर्शन के लिए बहुत मेहनत की है और देखना यह है कि वह रंग लाती है या नहीं। वहीं, शूमाकर के साथी ड्राइवर निको रोसबर्ग ने कहा कि पिछली दो रेस में उनका प्रदर्शन भले ही अच्छा नहीं रहा हो लेकिन वह बाकी की चार रेस में अधिकतम अंक जुटाने की कोशिश करेंगे।

शूमाकर ने कहा कि इस सत्र मे हम अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सके। अभी चार रेस बाकी है और हम सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करके अच्छे अंक हासिल करने की कोशिश करेंगे। उन्होंने बीआईसी के बारे में कहा कि यह बेहद दिलचस्प ट्रैक है और इस पर ड्राइव करना मजेदार अनुभव है। इसमे लो स्पीड कार्नर और लंबे फास्ट स्ट्रेट हैं, लेकिन हर साल पिछले की तुलना में अलग होता है। इस बार हमारे टायर भी अलग है लिहाजा कल पहले अभ्यास के बाद ही पता चल सकेगा कि हम कहां ठहरते हैं।

रोसबर्ग ने अप्रैल में चीनी ग्रांप्री में जीत दर्ज की थी। ड्राइवरों की सूची में वह सातवें और शूमाकर 14वें स्थान पर हैं। टीम कंस्ट्रक्टर्स सूची में 136 अंक के साथ पांचवें स्थान पर है। टीम प्रिंसिपल रोस ब्रान ने कहा कि हमने तकनीकी पहलुओं पर काफी मेहनत की है। अगले सत्र में हम और मजबूती से उतरेंगे। टीम के ड्राइवरों ने भी रिसर्च में काफी योगदान दिया है जिससे बेहतर एसएलएस कार बन सकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारतीय दर्शकों का उत्साह देखकर हैरान हैं शूमाकर