DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुझे बीसीसीआई ने किया नजरअंदाज :कुंबले

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले ने कहा है कि लगातार उपेक्षा का शिकार होने के कारण ही उन्हें राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) के अध्यक्ष पद से हटना पड़ा है।
 
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल (बीसीसीआई) को जिम्मेवार ठहराते हुए उन्होंने कहा कि मेरे पास एनसीए को बेहतर बनाने के लिए तीन वर्ष की पूरी योजना थी जिसे लेकर मैंने अध्यक्ष पद पर रहते हुए दस बार प्रेंजेंटेशन भी दी लेकिन मेरी योजनाओं को बिल्कुल नजरअंदाज किया गया।
 
भारतीय टीम के पूर्व कप्तान ने कहा कि रविवार को भी उन्होंने चेन्नई में एनसीए की बैठक में इस बारे में चर्चा की थी लेकिन समिति ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया। कुंबले ने कहा कि मुझे लगा कि ऐसे में अध्यक्ष पद पर बने रहने को कोई औचित्य नहीं है जब आपकी बात ही न सुनी जाए।

पूर्व स्पिनर ने कहा कि कर्नाटक स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन (केएससीए) का अध्यक्ष होते हुए उन्हें क्रिकेट और खिलाड़ियों के हित में काम करने और अपने निर्णय लेने की आजादी है। गौरतलब है कि पिछले दो महीने से चल रहे विवाद के बाद कुंबले ने सोमवार को एनसीए के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था जिसे बीसीसीआई ने मंजूर कर लिया। क्रिकेट एसोसिएशन के महासचिव एम पी पांडोव कुंबले के इस्तीफे के बाद नई नियुक्ति तक अंतरिम अध्यक्ष के रूप में काम करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुझे बीसीसीआई ने किया नजरअंदाज :कुंबले