DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बल्लेबाजों की खराब फार्म से निपटना होगा भारत को

पिछले मैच में वेस्टइंडीज की मनोबल बढ़ाने वाली 16 रन की जीत के बाद भारत को गुरुवार को होलकर स्टेडियम में शुरू हो रहे चौथे एकदिवसीय मैच में अपने शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों की खराब फॉर्म से निपटना होगा।
    
वेस्टइंडीज ने अपने से मजबूत मेजबान टीम के खिलाफ कटक और विशाखापत्तनम में पहले दो मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन टीम को शिकस्त का सामना करना पड़ा। मेहमान टीम हालांकि अहमदाबाद में करो या मरो का मुकाबला जीतने में सफल रही जिससे उसका आत्मविश्वास बढ़ा होगा।
     
मोटेरा के सरदार पटेल गुजरात स्टेडियम में रोहित शर्मा के अलावा भारत के अन्य बल्लेबाज वेस्टइंडीज के गेंदबाजों का सामना करने में विफल रहे थे। सचिन तेंदुलकर, महेंद्र सिंह धौनी और युवराज सिंह की गैरमौजूदगी में बल्लेबाजों को खराब फॉर्म से उबरना होगा।
    
भारत के लिए सबसे बड़ी चिंता कप्तान वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर की दिल्ली की जोड़ी की खराब फॉर्म है जो अब तक तीनों ही मैचों में विफल रहे हैं। भारत को अगर सीरीज में गुरुवार को अजेय बढ़त बनानी है और इंग्लैंड को 5-0 से हराने के बाद लगातार दूसरी एकदिवसीय सीरीज अपने नाम करनी है तो सहवाग और गंभीर को बेहतर प्रदर्शन करना होगा।
    
सहवाग ने अहमदाबाद में शिकस्त के बाद कहा था कि हमें शीर्ष क्रम पर ध्यान देना होगा। हमें अच्छा प्रदर्शन करना होगा। हमें टीम के रूप में अच्छी शुरूआत देनी होगी जिससे कि आगामी मैचों में किसी भी लक्ष्य को हासिल कर सकें और वेस्टइंडीज को कोई भी लक्ष्य दे सकें।

धौनी की अनुपस्थिति में विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी संभाल रहे पार्थिव पटेल ने अहमदाबाद में 39 रन की पारी के दौरान कुछ अच्छे शॉट लगाए थे लेकिन उन्हें अच्छी शुरूआत को बड़ी पारी में बदलाव होगा। भारतीय गेंदबाज भी अहमदाबाद में अंतिम ओवरों में वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों पर अंकुश लगाने में नाकाम रहे। उमेश यादव और अभिमन्यु मिथुन के खिलाफ इस मैच में वेस्टइंडीज के कप्तान डेरेन सैमी और आंद्रे रसेल ने जमकर रन बटोरे।
     
यादव को अंतिम दो मैचों के लिए ब्रेक दिया गया है और उनकी जगह लगभग ढ़ाई साल से टीम से बाहर इरफान पठान को टीम में शामिल किया गया है। अंतिम एकादश में पठान को शामिल करने से तेज गेंदबाजी आक्रमण में विविधता आएगी।
     
पठान को रणजी ट्रॉफी के मौजूदा सत्र में बड़ौदा की ओर से अच्छे प्रदर्शन का फायदा मिला है। इसके अलावा उनका अनुभव गेंदबाजी आक्रमण के लिए अहम होगा जबकि बायें हाथ का यह खिलाड़ी जरूरत पड़ने पर बल्लेबाजी से भी उपयोगी योगदान देने में सक्षम है।
     
पठान और आर विनय कुमार वेस्टइंडीज के बल्लेबाजी क्रम को परेशान कर सकते हैं जिसके डवेन ब्रावो के बिना उतरने की संभावना है। ब्रावो की मांसपेशियों में तीसरे वनडे में बल्लेबाजी के दौरान खिंचाव आ गया था और वह दोबारा मैदान पर नहीं उतरे।

ब्रावो का गुरुवार को खेलना संदिग्ध है और उनकी अनुपस्थिति वेस्टइंडीज की टीम के लिए बड़ा झटका है।
मेहमान टीम के बल्लेबाज को एक बार फिर आर अश्विन और रविंद्र जडेजा की स्पिन जोड़ी से निपटना होगा जिन्होंने अहमदाबाद में काफी किफायती गेंदबाजी की थी। बीच के ओवरों में लय कायम रखने के लिए वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों को इन दोनों के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन करना होगा।
     
मार्लन सैमुअल्स ने अहमदाबाद में अर्धशतक जड़कर बल्ले से बेहतर प्रदर्शन किया और उनकी फॉर्म में वापसी टीम के लिए अच्छा संकेत है। तेज गेंदबाज रवि रामपॉल ने अब तक टीम के लिए टेस्ट और एकदिवसीय मैचों में शानदार प्रदर्शन किया है जबकि मेहमान टीम अहमदाबाद में पदार्पण करने वाले ऑफ स्पिनर सुनील नरेन की गेंदबाजी की विविधा और नियंत्रण से भी खुश होगी। इस ऑफ स्पिनर ने तीसरे वनडे में 34 रन देकर दो विकेट चटकाए।
     
वेस्टइंडीज की गेंदबाजी हालांकि थोड़ी कमजोर रही है और अगर भारतीय बल्लेबाज अहमदाबाद की गलती नहीं दोहराते हैं तो मेहमान टीम के गेंदबाजों को एक बार फिर मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है। पिच क्यूरेटर समुंदर सिंह चौहान ने बुधवार को कहा था कि पिच बल्लेबाजी के अनुकूल होगी। हालांकि देखना होगा कि यह कितना सही रहता है क्योंकि पहले दो मैचों में बल्लेबाजों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।

टीमें इस प्रकार हैं:
भारत: वीरेंद्र सहवाग (कप्तान), गौतम गंभीर, विराट कोहली, रोहित शर्मा, सुरेश रैना, रविंद्र जडेजा, पार्थिव पटेल, आर अश्विन, अभिमन्यु मिथुन, आर विनय कुमार, इरफान पठान, वरूण एरॉन, राहुल शर्मा और मनोज तिवारी।
 
वेस्टइंडीज: लेंडल सिमन्स, एड्रियन बराथ, मार्लन सैमुअल्स, डेरेन ब्रावो, डेंजा हयात, कीरोन पोलार्ड, दिनेश रामदीन, डेरेन सैमी (कप्तान), आंद्रे रसेल, रवि रामपॉल, केमार रोच, एंथोनी मार्टिन, सुनील नरेन, कीरोन पावेल और जेसन मोहम्मद।
 
समय: मैच भारतीय समयानुसार दोपहर ढ़ाई बजे शुरू होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बल्लेबाजों की खराब फार्म से निपटना होगा भारत को