DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ईंधन में तेल का विकल्प तलाश रहा है अमेरिका

भारत और चीन जैसी बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में कच्चे तेल की मांग बढ़ने से इसकी कीमतों में उछाल आने की आशंका के बीच अमेरिका अपनी उर्जा जरूरतें पूरी करने के लिए अन्य विकल्पों में संभावनाएं तलाश रहा है।
   
राष्ट्रपति बराक ओबामा के उप सहायक (उर्जा व जलवायु परिवर्तन) हेदर जिचल ने बताया कि इन कारकों को ध्यान में रखते हुए और पश्चिम एशिया में तनाव के मद्देनजर राष्ट्रपति ओबामा ने एक दशक में तेल आयात एक तिहाई तक घटाने का लक्ष्य रखा है।
   
उन्होंने कहा कि हम चीन और भारत जैसे उभरते देशों में जहां सड़कों पर लाखों की संख्या में नए वाहन उतर रहे हैं, कच्चे तेल की मांग बढ़ रही है। वहीं पश्चिम एशिया में तनाव बढ़ने से कीमतों में तेजी आ रही है। हम जानते हैं कि इनका अमेरिकी उपभोक्ताओं पर असर होगा।
   
जिचल ने कहा कि यही वजह है कि राष्ट्रपति ने निकट भविष्य में इन चुनौतियों से निपटने के लिए अपने कैबिनेट को सभी उपलब्ध विकल्पों पर विचार करने और निर्णय करने का निर्देश दिया है।
   
व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जे कार्ने ने कहा कि तेल की वैश्विक कीमतें कई कारकों से प्रभावित होती हैं जिनमें से कुछ किसी भी प्रशासन के नियंत्रण से परे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ईंधन में तेल का विकल्प तलाश रहा है अमेरिका