DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उज्जैन में चपरासी के पास मिली 10 करोड़ की संपत्ति

उज्जैन नगर निगम के एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पास 10 करोड़ रुपये की संपत्ति का पता चला है। यह खुलासा बुधवार को तब हुआ, जब लोकायुक्त पुलिस ने उसके घर से इस संपत्ति से जुड़े कागजात बरामद किए। उसके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति रखने का मामला दर्ज कर लिया गया है।

नरेंद्र देशमुख नाम का यह कर्मचारी उज्जैन नगर निगम में चपरासी के पद पर काम करता है। उज्जैन में उसका आलीशान मकान है। लोकायुक्त एसपी अरुण मिश्रा के मुताबिक, नरेंद्र के नाम पर दो घर हैं। उसके पास 18 बीघा जमीन, एक पॉलट्री फॉर्म और एक फार्म हाउस होने का भी पता चला है। मुंबई के एक होटल और एक फैक्ट्री में भी उसकी हिस्सेदारी है। महाराष्ट्र के जलगांव जिले में भी उसकी पांच एकड़ जमीन मिली है और 10 बैंक खाते भी सामने आए हैं।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, उसके घर से पांच लग्जरी गाडि़यां, 4 स्कूटर और दो करोड़ रुपये नगद भी मिले हैं। एक लॉकर का भी पता चला है। उसका बेटा और बेटी बड़े इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ रहे हैं। देशमुख के खिलाफ लोकायुक्त के पास आय से अधिक संपत्ति रखने की शिकायतें दर्ज कराई गई थीं। इनके आधार पर करीब 15 पुलिसकमिर्यों की टीम ने उसके घर यह छापा मारा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उज्जैन में चपरासी के पास मिली 10 करोड़ की संपत्ति