DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऐश का फिटनेस मन्त्र

अभिनेत्रियां अपनी निजी जिंदगी को रील लाइफ से अलग रखती हैं, इसका ताजा उदाहरण हैं ऐश्वर्या। वह पहली बार मां बनने के बाद लोगों के सामने आयीं तब पता चला कि वह कंफर्ट से ज्यादा फिटनेस को महत्व देती हैं।

बॉलीवुड की 38 वर्षीय अभिनेत्री ऐश्वर्या राय बच्चन डिलीवरी के कुछ दिनों बाद जब मुम्बई की एक प्रेस कॉन्फ्रेस में पहली बार लोगों के सामने आयीं तो स्टाइल गुरुओं की आंखें उनके फुटवियर फिट-फ्लॉप पर अटक गयीं, जिसको वह डिजाइनर अबू जानी के डिजाइन किये हुए अनारकली चूड़ीदार सूट के साथ पहन कर आयीं थी। स्टाइल गुरुओं के मुताबिक परंपरागत कपड़े और कैजुअल फिट फ्लॉप की जोड़ी बेमेल है, लेकिन स्टाइल दिवा ऐश्वर्या जब इस तरह लोगों के सामने आती हैं तो इससे फिटनेस को लेकर उनके जुनून का साफ पता चलता है। मोटे सोल वाले कैजुअल सैंडल (फिट फ्लॉप) पांव, पिंडली और कूल्हे की मांसपेशियों की कसावट के लिए इस्तेमाल किये जाते हैं।

ऐश्वर्या का स्टाइल सेंस
ऐश्वर्या के फुटवियर की पसंद से यह साफ पता चलता है कि पूर्व विश्व सुंदरी अपने पुराने शेप में आने के लिए जरा भी समय गंवाना नहीं चाहती है। फिट-फ्लॉप जैसे पॉस्चर से ना सिर्फ मांस की टोनिंग होती है, बल्कि लंबे समय तक इसके इस्तेमाल से वजन घटता है और प्रेग्नेंसी के बाद आए सेल्युलाइट से छुटकारा भी मिलता है। डिजाइनर पायल जैन के मुताबिक ऐश्वर्या के फुटवियर की पसंद बहुत ही सेंसेबल और प्रैक्टिकल है। वह क्रीम और बेबी पिंक कलर के अनारकली शूट में बहुत ही तरोताजा, शालीन और खूबसूरत लग रहीं थी। भले ही इस सूट के साथ फिट फ्लॉप्स फैशन के अनुरूप नहीं है लेकिन ऐश्वर्या के इस फुटवियर की पसंद परिस्थिति के मुताबिक है। स्मिता सिंह राठौर और शानी हिमांशी की जोड़ी के मुताबिक ऐश्वर्या ने बहुत सोझ-समझकर यह फैसला लिया है। उनकी यह च्वाइस बहुत ही स्टाइलिश है।

फिटनेस ट्रेनर जितेन्द्र शर्मा कहते हैं ‘फिटनेस शूज का सोल बहुत ही मोटा रहता है, इसलिए आपके पांव को सपोर्ट देता है और यह शॉक एब्जॉर्बर होता है। साथ ही यह पोस्चर को भी ठीक रखता है। अगर आम जूतों के मुकाबले काम के लिए आप इसका इस्तेमाल करते हैं, तो आप की ज्यादा कैलोरी बर्न होती है। शू डिजाइनर रीना सहाय कहती हैं कि इससे यह पता चलता है कि ऐश्वर्या अपने बढ़े वजन को हल्के में नहीं ले रही हैं।

दुविधा में फैशन जगत
फैशन स्टाइलिस्ट ऋषि राज ऐश्वर्या के फुटवियर की पसंद से बिलकुल भी इत्तफाक नहीं रखते हैं। राज कहते हैं कि ऐश्वर्या अपने पुराने शेप को पाने में थोड़ी भी देर नहीं करना चाहती, चाहे वह उनकी बढ़ी हुई टोनिंग हो या उनकी प्रोफेशनल लाइफ में वापसी। लेकिन मैं अब भी यह महसूस करता हूं कि ऐश्वर्या को प्रेस कॉन्फ्रेंस में नहीं आना चाहिए था। राज कहते हैं कि अनारकली जैसे परंपरागत परिधान के साथ ऐश्वर्या के फिट फ्लॉप बहुत ही बेमेल दिख रहे थे। भले ही उन्होंने अपनी फिटनेस का ध्यान रख कर ही क्यों ना पहना हो। अगर वह हील नहीं पहनना चाहती थीं तो स्ट्रेप वाले फ्लैप सैंडल पहनने चाहिए थे।

हेल्थ मैटर्स
कुछ विशेषज्ञों के मुताबिक इस चप्पल को समतल तलवे वाले लोगों को नहीं पहनना चाहिए इससे तलवे के घुमाव पर जोर पड़ता है और उससे दर्द होता है। डॉक्टरों के मुताबिक फिटनेस के लिए ऐसे चप्पल या जूते इस्तेमाल करने के लिए एक्सरसाइज करना एक बेहतर विकल्प है। बैक टू फिटनेस के डॉक्टर रजत चौहान कहते हैं कि पांव, पिंडली और कूल्हे की मांसपेशियों की टोनिंग के लिए व्यायाम सबसे अच्छा उपाय है। हम फिट फ्लॉप्स के फायदों को सोचकर उसके इस्तेमाल में ज्यादा रुचि लेते हैं, लेकिन हम एक्सरसाइज करके भी इसे प्राप्त कर सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऐश का फिटनेस मन्त्र