DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिच ने भारत की वृद्धि दर के अनुमान को घटाया

रेटिंग एजेंसी फिच ने 2011-12 के लिए भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर का अनुमान साढ़े सात फीसदी से घटाकर सात फीसदी कर दिया है। रेटिंग एजेंसी ने देश में मुद्रास्फीति के लगातार लगातार उच्च स्तर पर बरकरार रहने, उच्च ब्याज दर तथा वैशिक नरमी के मद्देनजर वृद्धि दर का अनुमान घटाया है।

यह सरकार के 7.5 प्रतिशत के अनुमान से कम है। सरकार ने बजट पूर्व पेश किए गए आर्थिक सर्वे में चालू वित्त वर्ष की वृद्धि 9 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया था। एजेंसी ने अपनी रपट में कहा गया कि भारतीय अर्थव्यवस्था अब 2013-14 तक ही फिर आठ फीसदी की आर्थिक वृद्धि के स्तर पर लौट सकेगी।

रपट में कहा गया कि भारत का आर्थिक दृष्टिकोण चुनौती भरा है, क्योंकि ऊंची मंहगाई दर के कारण वृद्धि की रफ्तार कम रहेगी। वैश्विक अर्थव्यवस्था में कमजोरी और ऊंची ब्याज दर के कारण अर्थव्यवस्था में नरमी बरकरार रहेगी।

इसमें कहा गया कि इसके कारण फिच ने वित्त वर्ष 2011-12 के लिए वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर को घटाकर सात फीसदी कर दिया, जो पहले आठ फीसदी और फिर 7.5 फीसदी कर दी गयी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फिच ने भारत की वृद्धि दर के अनुमान को घटाया