DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिनेमा उद्योग को मिली सेवा कर संबंधी छूट

केन्द्रीय वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार को संसद में पेश वर्ष 2012-13 के आम बजट में सिनेमा उद्योग को सिनेमेटोग्राफिक फिल्मों को रिकॉर्ड करने संबंधी कॉपीराइट पर सेवा कर से छूट प्रदान की है।
 
मुखर्जी ने कहा कि सरकार केंद्रीय सेवा कर में संशोधन आवेदन प्राधिकरण तथा निपटान आयोग की शुरूआत कर रही है जिससे विवादों के ज्यादा आसानी से निपटारे में मदद मिलेगी। राजकोषीय स्थिति को अच्छी हालत में बनाए रखने के लिए सेवा कर दर को 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 12 प्रतिशत करने का प्रस्ताव किया गया है। यह सेवाओं की दरों में परिणामी परिवर्तन के साथ होंगे तथा यह यैयक्तिक कर दरें होंगी।
 
सेवा कर संबंधी प्रस्तावों से 18660 करोड़ रूपए का अतिरिक्त राजस्व प्राप्त होने की संभावना है। राजकोषीय सुधार की आवशयकता को देखते हुए अब मानक दर को 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 12 प्रतिशत मैरिट दर को 5 प्रतिशत से बढ़ाकर 6 प्रतिशत तथा लोअर मैरिट दर को एक प्रतिशत से बढ़ाकर दो प्रतिशत कर दिया गया है। कोयला उर्वरक मोबाइल फोन तथा कीमती धातुओं से बने आभूषणों के लिए लोअर मैरिट दर को एक प्रतिशत पर यथावत रखा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सिनेमा उद्योग को मिली सेवा कर संबंधी छूट