DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फलक अब स्वयं सांस ले सकती है: डॉक्टर

भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती फलक की हालत में उल्लेखनीय सुधार आया है और डॉक्टरों ने कहा है कि उसकी स्थिति स्थिर है तथा वह अब स्वयं ही सांस ले रही है। फलक तीन दिनों से बिना कृत्रिम श्वसन तंत्र के है और बाहरी उद्दीपन के बिना ही वह अपना हाथ पैर हिला डुला रही है जिसके बाद डॉक्टर इस इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं।
      
डॉ दीपक अग्रवाल ने कहा कि उसकी हालत स्थिर है। वह ज्यादा गंभीर स्थिति में नहीं है क्योंकि अब वह जीवन रक्षक प्रणाली के बगैर रह सकती है। उसे वार्ड में भेजा सकता है लेकिन हमने उसे आईसीयू में रखने का फैसला किया ताकि उसके पास लोगों की कम से कम भीड़ हो। फलक को 18 जनवरी को एम्स के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया था, तब से ही अग्रवाल उसका इलाज कर रहे हैं। फलक को जब अस्पताल में लाया गया था, तब उसकी बुरी हालत थी, उसके सिर, हाथ, शरीर पर जगह-जगह गहरी चोट थी।
      
अग्रवाल ने कहा कि वह अपना हाथ पैर हिला डुला रही है, वह अपनी आंखे खोल रही है। वह अब वैसी नहीं है जैसे पहले थी। उसके कई बार जीवन रक्षक ऑपरेशन हुए हैं, पिछले 44 दिनों में ज्यादातर ऑपरेशन उसके मस्तिष्क को लेकर हुए। इसी बीच देश विदेश के कई लोगों ने फलक को गोद लेने की इच्छा के साथ डॉक्टरों से संपर्क किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फलक अब स्वयं सांस ले सकती है: डॉक्टर