DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत का निर्यात नए बाजारों पर निर्भर: सिंधिया

केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने देश के निर्यातकों को परम्परागत पश्चिमी बाजारों की कमजोरी को देखते हुए लातिनी अमेरिका, अफ्रीका और अन्य क्षेत्रों में नए बाजार तलाशने की सलाह दी है।

सिंधिया ने कहा कि भविष्य में लातिनी अमेरिका, अफ्रीका, एशिया के कुछ हिस्सों और ओसियाना क्षेत्र के बाजारों के माध्यम से ही निर्यात बढ़ेगा। वाणिज्य मंत्रालय ने तो अपनी विदेश व्यापार नीति में इस दिशा में पहले ही बदलाव कर दिए हैं और नए बाजारों में निर्यात करने वाले निर्यातकों को नए प्रोत्साहन दिए जा रहे हैं।

कार्यक्रम का आयोजन रत्न आभूषण निर्यात संवधर्न परिषद द्वारा स्थापित भारतीय रत्नाभूषण संस्थान- दिल्ली ने किया था। उन्होंने कहा कि अमेरिका और रिण संकट से जूझ रहे यूरो क्षेत्र में मांग में नरमी को देखते हुए निर्यातकों को लातिनी अमेरिका और अफ्रीका के नए बाजारों को तलाशना चाहिए, ताकि 2012-13 में 300 अरब डॉलर से अधिक के निर्यात का लक्ष्य हासिल किया जा सके।

वाणिज्य राज्यमंत्री ने भारत से रत्न आभूषण निर्यात बढ़ाने के लिए नए नए आकर्षक डिजाइन पर जोर दिया। उन्होंने संस्थान के छात्रों को ऐसी नयी नयी अभिकल्पनाओं वाले आभूषण विकसित करने की सलाह दी, जो विश्व बाजार को और अधिक आकर्षित कर सकें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत का निर्यात नए बाजारों पर निर्भर: सिंधिया