DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कृषि में 4 प्रतिशत वृद्धि के लिए प्रयास की जरूरत

बंपर पैदावार के बावजूद 11वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान कृषि क्षेत्र की सुस्त रफ्तार को लेकर आर्थिक समीक्षा 2011-12 में चिंता जताई गई है। अगली पंचवर्षीय योजना में 4 प्रतिशत की वृद्धि दर हासिल करने के लिए व्यापक व समन्वित प्रयास की जरूरत पर बल दिया गया है।

समीक्षा में सुझाव दिया गया है कि लक्षित वृद्धि दर हासिल करने के लिए भूखंडों के मिलान, खाद्य भंडारण का प्रभावी प्रबंधन और आपूर्ति श्रंखला सुधारने की जरूरत है। समीक्षा के मुताबिक, ग्रामीण ढांचे व सिंचाई सुविधाओं के निर्माण व अनुसंधान व विकास में निवेश को भी प्राथमिकता दी जानी चाहिए।

आर्थिक समीक्षा में कहा गया है कि चालू पंचवर्षीय योजना के दौरान कृषि क्षेत्र की वृद्धि दर 3.28 प्रतिशत रहने का अनुमान है, जबकि लक्ष्य 4 प्रतिशत का था। चार प्रतिशत की वृद्धि दर को हकीकत में तब्दील करने के लिए इस क्षेत्र में चुनौतियों से निपटने पर ध्यान देने होंगे जिसके लिए पर्याप्त प्रयास करने की आवश्यकता है।

चालू वित्त वर्ष के लिए समीक्षा में कषि क्षेत्र की वृद्धि दर ढाई प्रतिशत रहने का अनुमान जताया गया है। देश के सकल घरेलू उत्पाद [जीडीपी] में कृषि क्षेत्र का योगदान 13.9 प्रतिशत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कृषि में 4 प्रतिशत वृद्धि के लिए प्रयास की जरूरत