DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गलती बताने में हिचकते नहीं : भूपति-बोपन्ना

दुबई ओपन टेनिस चैंपियनपशिप का पुरूष युगल खिताब जीतने वाली भारत के महेश भूपति और रोहन बोपन्ना की चौथी सीड जोड़ी का कहना है कि वे दोनों एक दूसरे को उसकी गलती बताने में नहीं हिचकते हैं।
 
पोलैंड के मारिश्ज फ्रिस्टनबर्ग और मार्सिन मत्कोवस्की की तीसरी वरीय जोड़ी को तीन सेटों के संघर्ष में 6-4 3-6, 10-5 से हराकर युगल खिताब जीतने वाले भूपति ने कहा कि जोड़ी बनाने के लिए सबसे अधिक जरूरी बातचीत करना है और हम दोनों कोर्ट पर भी खूब बात करते हैं और अब तो हममें अच्छी दोस्ती भी हो गई है।
 
उन्होंने कहा कि हम दोनों एक दूसरे को उसकी गलतियां बताने में नहीं हिचकते। हमें अपनी कमियों और खूबियों का पता है इसलिए हमारी जोड़ी खतरनाक है और हम विपक्षी जोड़ी पर हावी हो जाते हैं। भूपति-बोपन्ना ने इसी वर्ष जोड़ी बनाई थी। इस जोड़ी की यह पहली खिताबी जीत है। भूपति की दुबई ओपन में यह चौथी खिताबी कामयाबी है।

दूसरी तरफ बोपन्ना का कहना है कि भूपति जैसा जोड़ीदार मिलने उनके लिए सौभाग्य की बात है। उन्होंने कहा कि जब हमारी जोड़ी नहीं बनी थी और हम दोस्त नहीं थे उस समय भी भूपति हमेशा संपर्क में रहते थे। उनका अनुभव मेरे बहुत काम आता है।
 
इससे पहले बोपन्ना के जोड़ीदार पाकिस्तान एस्साम उल हक कुरैशी थे लेकिन लंदन ओलंपिक के मद्देनजर उन्होंने कुरैशी से अपनी जोड़ी तोड़ ली। खिताब जीतने के बाद दोनों खिलाड़ियों के ट्विटर अकांउट पर जैसे शुभकामनाओं की बाढ़ ही आ गई। अभिवन बिंद्रा और सोमदेव बर्मन जैसे खिलाड़ियों ने उन्हें बधाई दी। बोपन्ना ने कहा कि यह खिताब मेरे लिए जन्मदिन के तोहफे जैसा है। रविवार को वह अपना जन्मदिन मनाएंगे।

भूपति की पत्नी बॉलीवुड अभिनेत्री लारा दत्ता ने भी दोनों को बधाई देते हुए कहा कि यह मेरे पति का 50वां खिताब है। जीत दोनों को मुबारक हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गलती बताने में हिचकते नहीं : भूपति-बोपन्ना