DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'देयोल', 'बयारी' श्रेष्ठ फीचर फिल्म का राष्ट्रीय पुरस्कार

शिक्षित युवाओं पर केंद्रित मराठी फिल्म 'देउल' और बीयरी समाज में रहने वाली मुसलमान महिलाओं पर आधारिक कन्नड़ फिल्म 'बयारी' को बुधवार को 59वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के तहत श्रेष्ठ फीचर चुना गया है।

उमेश विनायक कुलकर्णी द्वारा निर्देशित 'देउल' की कहानी गावों में रहने वाले शिक्षित युवाओं पर केंद्रित है। नवम्बर 2011 मे पुसान अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (कोरिया) में पहली बार दिखाई गई इस फिल्म में नाना पाटेकर, दिलीप प्रभवालकर, मोहन अगासे, गिरीश, सोनाली कुलकर्णी और नसीरूद्दीन शाह ने काम किया है।

'बयारी' बीयरी भाषा की पहली फिल्म है। यह भाषा तटवर्ती कर्नाटक में बोली जाती है। सुवेरन द्वारा निर्देशित इस फिल्म में दिखाया गया है कि शादी और तलाक के नाम पर किस तरह बीयरी मुसलमान समाज की महिलाओं के साथ अमानवीय व्यवहार किया जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'देयोल', 'बयारी' श्रेष्ठ फीचर फिल्म का राष्ट्रीय पुरस्कार