DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेंट्रल इंस्टीटय़ूट ऑफ एजुकेशन, यहां से टीचर ट्रेनिंग की बात ही अलग है

दिल्ली विश्वविद्यालय का सेंट्रल इंस्टीटय़ूट ऑफ एजुकेशन (सीआईई) देश का सबसे बेहतर बीएलएड और बीएड कराने वाला संस्थान है। इसे डिपार्टमेंट ऑफ एजुकेशन के नाम से भी जाना जाता है। बेहतर शिक्षण व्यवस्था, उत्कृष्ट फैकल्टी, अच्छे शिक्षण माहौल, साधन संपन्न लाइब्रेरी और अनुशासन के लिए यह संस्थान देशभर में अपनी अलग पहचान बनाए हुए है। इसके बारे में बता रहे हैं परिणय कुमार

दिल्ली विश्वविद्यालय के उत्तरी परिसर में छात्र मार्ग पर स्थित सेंट्रल इंस्टीटय़ूट ऑफ एजुकेशन (सीआईई) की स्थापना आजादी के समय हुई थी। एजुकेशन ट्रेनिंग दिलाने के मामले में यह देश का सबसे प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान है। बीएड और बीएलएड करने की इच्छा रखने वाले छात्रों के लिए इस संस्थान में एडमिशन लेना एक सपना होता है। सीआईई को इंस्टीटय़ूट ऑफ एडवांस स्टडीज इन एजुकेशन से मान्यता प्राप्त है। सीआईई के तहत बीएड के लिए तीन कॉलेजों में प्रवेश मिलता है, जबकि बीएलएड के लिए आठ संस्थान हैं।

यूएसपी
यह संस्थान छात्रों के गुणों को निखार कर उन्हें आदर्श शिक्षक बनाने का काम करता है। संस्थान की बेहतर शिक्षा व्यवस्था और उत्कृष्ट प्रशिक्षण की वजह से यहां से छात्र बेहतर शिक्षक बन कर निकलते हैं। यहां का उत्कृष्ट प्रशिक्षण छात्रों को देश के विभिन्न स्कूलों में अच्छी शिक्षा मुहैया कराने और एक आदर्श स्थापित करने में मदद करता है।

शिक्षण प्रक्रिया 
केवल किताबी ज्ञान न देकर संस्थान तकनीकी शिक्षा और बेहतर प्रशिक्षण पर जोर देते हुए सीआईई छात्रों को आधुनिकतम तकनीक से शिक्षा उपलब्ध करवाता है और समय-समय पर व्याख्यान, चर्चा-परिचर्चा भी आयोजित करता है।

प्लेसमेंट सेल
सीआईई का अपना प्लेसमेंट सेल है और यह अपने छात्रों को बेहतर अवसर मुहैया करवाता है।

आईटी सुविधाएं
संस्थान पूर्णत: आधुनिक तकनीक से लैस है। छात्रों को टेक्नोलॉजी अवेयरनेस प्रोग्राम फॉर स्टूडेंट्स (टीएपीएस) के तहत क्लासेज मुहैया कराई जाती हैं। छात्रों के लिए आधुनिक कम्प्यूटरों से युक्त कंप्यूटर लैब है।

स्टूडेंट पंचायत
छात्रों के समस्या समाधान और उनके बेहतर हित के लिए यहां पर छात्र यूनियन की तर्ज पर स्टूडेंट पंचायत है।

इंफ्रास्ट्रक्चर
संस्थान की बनावट बेहद खूबसूरत है। संस्थान अपनी साधनसम्पन्न लैब, लाइब्रेरी, क्लासरूम, कैंटीन और अच्छी स्पोर्ट्स सुविधाओं के लिए पूरे विश्वविद्यालय में प्रसिद्ध है।

फैकल्टी 
वर्तमान में 36 फैकल्टी हैं। इनमें 10 प्रोफेसर, 14 एसोसिएट प्रोफेसर और 12 असिस्टेंट प्रोफेसर हैं।
सीआईई के कोर्स

बैचलर ऑफ एलिमेंट्री एजुकेशन (बीएलएड)
बैचलर ऑफ एजुकेशन
बैचलर ऑफ एजुकेशन (स्पेशल एजुकेशन)
मास्टर ऑफ फिलॉसफी इन एजुकेशन (एमफिल)
पीएचडी
अधिक जानकारी के लिए:  http://cie.du.ac.in

बैचलर ऑफ एजुकेशन (बीएड)
योग्यता:
किसी मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ किसी भी विषय में स्नातक। वाणिज्य, मनोविज्ञान, दर्शनशास्त्र और समाजशास्त्र विषय में बीएड के लिए न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएशन
फॉर्म उपलब्धता: मई अंतिम सप्ताह/जून प्रथम सप्ताह
अंतिम तिथि: जून का तीसरा सप्ताह
प्रवेश परीक्षा: जुलाई का प्रथम सप्ताह
प्रवेश परिणाम: जुलाई का दूसरा सप्ताह
कोर्स शुरू: जुलाई का तीसरा या अंतिम सप्ताह

बैचलर ऑफ एलिमेंट्री एजुकेशन (बीएलएड)
योग्यता: किसी मान्यताप्राप्त संस्थान से बारहवीं (10+2) उत्तीर्ण
कोर्स अवधि: 4 वर्ष
फॉर्म उपलब्धता: मई का तीसरा सप्ताह
अंतिम तिथि: जून का प्रथम सप्ताह
प्रवेश परीक्षा: जून का तीसरा सप्ताह

बैचलर ऑफ एजुकेशन (स्पेशल एजुकेशन)
दृष्टि बाधित
 
दुर्गाबाई देशमुख कॉलेज ऑफ स्पेशल एजुकेशन, लाल बहादुर शास्त्री मार्ग, ओबेरॉय होटल के निकट, नई दिल्ली-110033
फॉर्म: 23 अप्रैल से कॉलेज में उपलब्ध,
अंतिम तिथि: 17 मई

बैचलर ऑफ एजुकेशन (स्पेशल एजुकेशन) मंदबुद्धि  
लेडी इरविन कॉलेज
सीआईई के तहत बीएड कराने वाले संस्थान

सेंट्रल इंस्टीटय़ूट ऑफ एजुकेशन (सीआईई), डिपार्टमेंट ऑफ एजुकेशन, यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली, छात्र मार्ग, दिल्ली, वेबसाइट: http://cie.du.ac.in

महर्षि वाल्मीकि कॉलेज ऑफ एजुकेशन (एमवीसीओई), गीता कॉलोनी, दिल्ली-31

श्यामा प्रसाद मुखर्जी कॉलेज (एसपीएमसी), पंजाबी बाग (वेस्ट), नई दिल्ली

कुल सीट 
563 (वर्ष 2011 के अनुसार)
सेंट्रल इंस्टीटय़ूट ऑफ एजुकेशन: 278
महर्षि वाल्मीकि कॉलेज ऑफ एजुकेशन: 185
श्यामा प्रसाद मुखर्जी कॉलेज: 100
प्रवेश प्रक्रिया: लिखित परीक्षा के आधार पर निर्धारित कट ऑफ के अनुसार प्रवेश मिलता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यहां से टीचर ट्रेनिंग की बात ही अलग है