DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या 167 हुई

तीन अस्पतालों से 19 और लोगों के मरने की खबर आने के बाद जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या आज 167 पहुंच गयी। पुलिस ने घटना के सिलसिले में दो और लोगों को गिरफ्तार किया है।
    
स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने कहा कि राज्य के अब तक के सबसे भयानक अवैध शराब कांड में और लोगों के मरने की आशंका है क्योंकि कई लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। जहरीली शराब के शिकार लोगों में मजदूर, रिक्शाचालक और हॉकर हैं जिन्हें दक्षिण 24 परगना जिले के डायमंड हार्बर उपमंडल अस्पताल, एम़ आऱ बांगुर अस्पताल और कोलकाता के नेशनल मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
    
डायमंड हार्बर अस्पताल में करीब 90 लोगों का इलाज चल रहा है जहां दो की हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने कहा कि अधिकतर शवों का पोस्टमार्टम किया जा चुका है और उनके परिजनों को शव सौंप दिया गया है। पुलिस ने कहा कि दक्षिण 24 परगना जिले के संग्रामपुर गांव और आसपास के इलाकों से दो और लोगों को गिरफ्तार किया गया है जिससे मामले में गिरफ्तार लोगों की संख्या 12 हो गयी है। अवैध शराब के अड्डे का मालिक बादशा खोकान अब भी फरार है।
     
स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने कहा कि चिकित्सक, नर्स और पैरामेडिकल कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं और पीड़ितों का इलाज करने के लिये वे अतिरिक्त समय में काम कर रहे हैं। मंगलवार की रात विभिन्न अवैध शराब केंद्रों से जहरीली शराब खरीदकर पीने के बाद ये लोग बीमार पड़ गये। प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि मिथाइल अल्कोहल के जहरीलेपन के कारण लोगों में श्वसन एवं हदय संबंधी विकार आ गया।
    
मामल राज्य के विधानसभा में भी गूंजा जहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने घटना की सीआईडी जांच के आदेश दिये। यह घटना एएमआरआई अस्पताल में आग की बड़ी दुर्घटना के एक हफ्ते के अंदर हुई है जिसमें 93 लोगों की मौत हो गयी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या 167 हुई