DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नौसेना के तारपीडो खरीद की जांच करे सीवीसी: निषाद

स्कार्पियन पनडुब्बी के उपयोग के मकसद से तारपीडो की आपूर्ति के लिए नौसेना द्वारा इटली की एक कंपनी के साथ किया गया समझौता सवालों के घेरे में आ गया है और एक सांसद ने इसकी चयन प्रक्रिया में कथित भ्रष्टाचार की जांच के लिए केंद्रीय सतर्कता आयोग को पत्र लिखा है।

इससे पहले रक्षा मंत्री एके एंटनी को पत्र लिखने वाले सांसद जयनारायण प्रसाद निषाद ने आरोप लगाया है कि डब्लूएएसएस भारी जल तारपीडो का चयन प्रस्ताव के लिए अनुरोध में स्पष्ट किए गए मानकों के विपरीत किया गया इसके तहत समुद्र में गति और क्षमता के महत्वपूर्ण मानकों पर जांच नहीं की गई।

निशाद ने कहा कि अनुरोध पत्र में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि परीक्षण के दौरान जो तारपीडो बनाने वाली कंपनियां सफल रहेंगी केवल उन्हीं पर विचार किया जाएगा लेकिन इटली के डब्लूएएसएस के मामले में इसकी पूरी तरह से अनदेखी की गई और इस समझौते को उसके पक्ष में आगे बढ़ाया गया। इसके फलस्वरूप अनुरोध पत्र में दी गई तकनीकी शर्तों को अनदेखा कर दिया गया।
 
रक्षा मंत्रालय के सूत्रों और कुछ रक्षा पत्रिकाओं में छपे लेख के हवाले से जनता दल यूनाइटेड के सांसद निषाद ने दावा किया कि इस समझौते के मामले में रक्षा खरीद प्रक्रिया को तोड़ मरोड़ के पेश किया गया और वित्तीय फायदे के लिए उसका उल्लंघन किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नौसेना के तारपीडो खरीद की जांच करे सीवीसी: निषाद