DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंगाल: SFI नेता की मौत की न्यायिक जांच की मांग

मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने कोलकाता में स्टूडेन्टस फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) नेता सुदीप्तो गुप्ता की पुलिस हिरासत में मौत की न्यायिक जांच की मांग की है। पार्टी ने पुलिस के इस दावे को नकार दिया कि गुप्ता की मौत बस से गिरकर हुई।

माकपा पोलितब्यूरो सदस्य सीताराम येचमुरी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि हम किसी भी राज्य में पुलिस की इस तरह की कार्रवाई को स्वीकार नहीं कर सकते, जहां पुलिस शांतिपूर्ण प्रदर्शनों के लिए अनुमति देती है। लेकिन कोलकाता में पुलिस छात्रों को पीटती है, उन्हें गिरफ्तार करती है और बसों में भरकर ले जाती है और इसी प्रक्रिया में वस्तुत: एक छात्र की हत्या कर देती है।येचुरी ने कहा, पुलिस हिरासत में इस तरह से मौत होना कतई स्वीकार्य नहीं है। पुलिस की इस बात पर विश्वास नहीं किया जा सकता कि उसकी मौत बस से गिरकर हो गयी। इसीलिए इस मामले की न्यायिक जांच होनी चाहिए।

गुप्ता की कल शाम मौत के तुरंत बाद से ही पश्चिम बंगाल के माकपा नेताओं ने भी न्यायिक जांच की मांग की। उनका आरोप है कि 22 वर्षीय छात्र की मौत पुलिस लाठीचार्ज में जख्मी होने के कारण हुई है।

घटना उस समय की है जब एसएफआई के समर्थक कोलकाता में रानी रासमणि रोड पर विरोध रैली के लिए एकत्र हुए। वे राज्य में कालेज यूनियन चुनाव कराने की मांग कर रहे थे। पुलिस ने एसएफआई के 331 समर्थकों को गिरफ्तार किया और गुप्ता तथा 30 अन्य कार्यकर्ताओं को एक बस में बैठाकर थाने ले जाने लगी। गुप्ता कथित रूप से चलती बस से गिर गया और जख्मी हो गया। उसके बाद अस्पताल में उसने दम तोड़ दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बंगाल: SFI नेता की मौत की न्यायिक जांच की मांग