ई-शौचालय निर्माता का आईआईएससी के साथ गठजोड़ - ई-शौचालय निर्माता का आईआईएससी के साथ गठजोड़ DA Image
11 दिसंबर, 2019|3:13|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ई-शौचालय निर्माता का आईआईएससी के साथ गठजोड़

ई-शौचालय निर्माता इराम साइंटिफिक ने अपने उत्पाद पर और शोध तथा विकास कार्य करने के लिए इंडिया इंस्टीटय़ूट ऑफ साइंस (आईआईएससी) के साथ समझौता किया है। कम्पनी ने यह जानकारी गुरुवार को दी।

ई-शौचालय का विकास इराम साइंटिफिक सोल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड ने किया है, जो इराम समूह की कम्पनी है और जिसका कारोबार भारत, मध्यपूर्व तथा दक्षिणपूर्व एशिया में फैला हुआ है।

कम्पनी ने पूरे केरल में 600 ई-शौचालय स्थापित किए हैं और अगले तीन महीने में 300 और ई-शौचालय स्थापित किए जाएंगे।

इराम आईटीएल समूह के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक सिद्दीक अहमद ने कहा कि उन्होंने राज्य में स्वच्छ शौचालय के वेब-मोबाइल प्रौद्योगिकी-आधारित नियंत्रण के लिए राज्य सरकार को अपनी योजना भेज दी है।

अहमद ने कहा, ''आईआईएससी के साथ ताजा साझेदारी के अलावा हमारी साझेदारी नेशनल इंस्टीटय़ूट ऑफ डिजाइन, लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स और अन्य संस्थानों के साथ भी है।''

कम्पनी को हाल ही में बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन से तीन करोड़ रुपये का 'रीइनवेंट द ट्वॉयलेट चैलेंज' अनुदान मिला है।

ई-शौचालय की कीमत फिलहाल 3.5 लाख से 8.5 लाख रुपये के बीच है।

इस शौचालय के मुख्य दरवाजे के बाहर प्रवेश शुल्क के रूप में सिक्का डालने से एक दरवाजा स्वत: खुल जाता है। बिजली का बल्ब जल उठता है, एक्जॉस्ट पंखा चालू हो जाता है। शौचालय के अंदर एक बाल्टी, मग तथा अन्य जरूरी सामान रहता है। यदि शौचालय का उपयोग करने वाला फ्लश करना भूल जाता है, तो शौचालय की सफाई का काम स्वत: चालू हो जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ई-शौचालय निर्माता का आईआईएससी के साथ गठजोड़