कंपनी लॉ बोर्ड ने यूनिनॉर नीलामी का फैसला सुरक्षित रखा - कंपनी लॉ बोर्ड ने यूनिनॉर नीलामी का फैसला सुरक्षित रखा DA Image
13 दिसंबर, 2019|5:40|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कंपनी लॉ बोर्ड ने यूनिनॉर नीलामी का फैसला सुरक्षित रखा

कंपनी लॉ बोर्ड (सीएलबी) ने यूनिटेक की याचिका पर अपना आदेश बुधवार को सुरक्षित रखा। याचिका में कंपनी ने अपनी संयुक्त उद्यम कंपनी यूनिनॉर की नीलामी पर रोक लगाने का अनुरोध किया है।

सीएलबी के चेयरमैन न्यायमूर्ति डी आर देशमुख ने टेलीनॉर, यूनिनॉर तथा यूनिटेक की दलीलों को सुनने के बाद मामले पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया। संयुक्त उद्यम में टेलीनॉर की बहुलांश हिस्सेदारी है। सीएलबी इस मामले में गुरवार को फैसला सुनाएगा।

यूनिनॉर ने एक अगस्त को संभावित बोलीदाताओं से संयुक्त उद्यम में हिस्सेदारी बेचने के लिये छह अगस्त तक बोली जमा करने को कहा था। कंपनी ने यह भी कहा कि अगर कोई बोलीदाता सामने नहीं आता है तो संयुक्त उद्यम में बहुलांश हिस्सेदारी नार्वे की टेलीनॉर 3 करोड़ ग्राहक तथा संपत्ति के लिये 4,190 करोड़ रुपये देने को तैयार है। बहरहाल, तीन अगस्त को अंतरित आदेश पारित कर सीएलबी ने नीलामी प्रक्रिया पर अगले आदेश तक रोक लगा दी।
इस बीच, सीएलबी के अंतरिम आदेश को यूनिनॉर ने दिल्ली उच्च न्यायालय में चुनौती दी। न्यायालय ने सीएलबी के आदेश को संशोधित करते हुए कहा कि संयुक्त उद्यम कंपनी संभावित बोलीदाताओं से आठ अगस्त तक रूचि पत्र मंगा सकती है।

साथ ही उच्च न्यायालय ने सीएलबी को बुधवार की सुनवाई के लिये हरी झंडी दिखाई। जमीन-जायदाद के विकास से जुड़ी कंपनी यूनिटेक ने सीएलबी में याचिका दायर कर नीलामी रोकने का अनुरोध किया है। कंपनी को आशंका है कि टेलीनॉर नीलामी में एकमात्र बोलीदाता हो सकती है। संयुक्त उद्यम यूनिटेक वायरलेस में यूनिटेक की हिस्सेदारी 32.75 प्रतिशत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कंपनी लॉ बोर्ड ने यूनिनॉर नीलामी का फैसला सुरक्षित रखा