DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंककर्मी ने रची थी लूटकांड की साजिश

छपरा पुलिस ने बिहार स्टेट को-ऑपरेटिव बैंक से हुई 25 लाख रुपये की लूट का खुलासा किया है। पुलिस का दावा है कि बैंक के दैनिक वेतनभोगी कर्मी शंभू सिंह ने ही चार अपराधियों के साथ लूट की साजिश रची थी। शंभू सिंह पटना जिले के नौबतपुर निवासी है।

लूटकांड में अपराधियों ने कार्बाइन, पिस्टल व दो बाइक का इस्तेमाल किया था। गिरफ्तार बैंककर्मी शंभू सिंह ने पुलिस को बताया कि कार्बाइन श्रीराम सिंह के हाथ में था और कट्टा दिलीप सिंह के पास। दो पिस्टल अन्य दो अपराधियों के हाथ में थे।

अपराधी दो बाइक पर सवार होकर बैंक पहुंचे थे। इस लूटकांड में शामिल दिलीप सिंह मुजफ्फरपुर जिले के सरैया थाने के मंझोपुर और श्रीराम सिंह अवतारनगर थाना क्षेत्र के मिर्जापुर गांव का है।

श्रीराम सिंह आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने के दौरान अपना नाम रूपेश बताता रहा है। पुलिस ने दिलीप सिंह के पास से एक देसी कट्टा तथा चार गोलियां बरामद कीं। पुलिस के मुताबिक, श्रीराम सिंह से बैंककर्मी शंभू परिचित था और उसी ने साजिश रची।

अपराधियों को लाइनअप करने के लिए शंभू को छह लाख रुपए बतौर शेयर मिलना था। श्रीराम सिंह लूटे गए रुपए लेकर दिघवारा तक बाइक से गया था। दो दिनों के बाद बंटवारा होना था। इसी सिलसिले में अपराधी छपरा आए थे, तभी पुलिस ने उन्हें गुप्त सूचना के आधार पर गिरफ्तार कर लिया।

मालूम हो कि श्रीराम सिंह तथा दिलीप सिंह पर मुजफ्फरपुर में बाइक लूट, हत्या के मामले दर्ज हैं। पुलिस के मुताबिक सोनपुर के मौजूदा थानाध्यक्ष की पिस्टल लूट में भी श्रीराम शामिल था। मुजफ्फरपुर का श्रवण दास भी बैंक लूट में शामिल था।

वह और एक अन्य  लुटेरा अभी फरार है। रुपये की बरामदगी के लिए मुजफ्फरपुर में डीएसपी नगर अजय कुमार के नेतृत्व में थानाध्यक्ष केशरीचंद, शरतेन्दु शरत, रघुनाथ प्रसाद छापेमारी कर रहे हैं। वैसे, अपराधियों की दो दिन पहले गिरफ्तारी के बाद भी पुलिस रुपये की बरामदगी नहीं कर सकी है। एसपी का कहना है कि रुपये की बरामदगी जल्द ही कर ली जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बैंककर्मी ने रची थी लूटकांड की साजिश