DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चंडीगढ़ से ममता को न्यौता, कांग्रेस हुई नरम गरम

पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के ममता बनर्जी के किसी भी कदम पर कांग्रेस ने रविवार को स्पष्ट तौर पर अपनी अप्रसन्नता जतायी। लेकिन तृणमूल नेता द्वारा चंडीगढ़ में केवल अपने प्रतिनिधि को भेजे जाने का फैसला किये जाने के बाद कांग्रेस ने फौरन इस मुद्दे पर अपने रूख को नरम कर लिया।

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक संघवी ने बादल के शपथ ग्रहण समारोह में ममता के भाग लेने की संभावना के बारे में रविवार को दिन में कहा कि साझेदारी में शामिल लोगों की ओर से अजनबियों के साथ सामाजिक संवाद मान्य है लेकिन स्पष्टतया यदि चीजें सामाजिक शिष्टाचार की समान्य सीमाओं के पार चली जाती हैं तो वह अनैतिक होगा।

बहरहाल, तृणमूल सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि ममता ने पश्चिम बंगाल की पर्यटन मंत्री रछपाल सिंह से पंजाब में उनका प्रतिनिधित्व करने को कहा है। इस बयान के बाद सिंघवी ने कहा कि यह सामाजिक शिष्टाचार होते हैं जो राजनीति में अक्सर किये जाते हैं।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि मुझे समझ में नहीं आता कि उनके (ममता के) जाने या नहीं जाने को इस अंदाज में खबर क्यों बनाया जाना चाहिए। यह सामाजिक शिष्टचार होते हैं जिन्हें राजनीति में अक्सर निभाया जाता है। उनके जाने या नहीं जाने से हर प्रकार के अर्थ नहीं निकाले जाने चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चंडीगढ़ से ममता को न्यौता, कांग्रेस हुई नरम गरम