DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरियाणाः 2012-13 के बजट में कोई नया कर नहीं

हरियाणा सरकार ने सोमवार को वित्त वर्ष 2012-13 के लिए घाटे का बजट पेश करते हुए घाटे की भरपाई के लिए जनता पर कोई नया कर थोपे जाने का प्रस्ताव नहीं किया है।

राज्य के के वित्त मंत्री हरमोहिंर सिंह चट्ठा ने राज्य विधानसभा में बजट पेश करते हुए इसमें सामाजिक क्षेत्र के लिए बजट प्रावधानों में लगभग 53.28 प्रतिशत की वृद्धि किए जाने के साथ 11वीं पंचवर्षीय योजना के पहले चार वर्षों में 9.3 प्रतिशत की औसत विकास दर हासिल करने की भी घोषणा की।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2010-11 के दौरान विकास दर 9.6 प्रतिशत रहने का अनुमान है। वित्त मंत्री ने कहा कि वर्ष 2011-12 के अनुमानों के अनुसार राज्य की प्रति व्यक्ति आय वर्तमान मूल्यों पर 109227 रुपए रहने का अनुमान है जो गोवा के बाद दूसरे नम्बर है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2012-13 की वार्षिक योजना 14500 करोड़ रुपए की होगी जोकि वर्ष 2011-12 के 13200 रुपए के मुकाबले 9.85 प्रतिशत अधिक है। चट्ठा ने बताया कि वर्ष के दौरान कुल प्राप्तियां 44708.47 करोड़ रुपए रहने का अनुमान है जिसमें राजस्व प्राप्तियां 37327.97 करोड़ रुपए तथा पूंजीगत प्राप्तियां 7380.50 करोड़ रुपए हैं जो वर्ष 2011-12 के मुकाबले क्रमशः 4797.13 करोड़ रुपए तथा 3840.34 करोड़ रुपए की वृद्धि दर्शाती है।

उन्होंने कहा कि वर्ष का कुल खर्च 45318.93 करोड़ रुपए दर्शाया रहने का अनुमान है जिसमें राजस्व खर्च 39783.52 करोड़ रुपए और पूंजीगत खर्च 5535.41 करोड. रुपए है जो क्रमशः 3831 करोड़ रुपए, 3734.27 करोड़ रुपए तथा 96.89 करोड़ रुपए की वृद्धि दर्शाते हैं।

इस तरह वर्ष के अंत में राजस्व घाटा 2455.55 करोड़ रुपए तथा राजकोषीय घाटा 7596.82 करोड़ रुपए रहने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2013-14 तक राज्य के राजस्व अधिशेष में आने की सम्भावना व्यक्त की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हरियाणाः 2012-13 के बजट में कोई नया कर नहीं