DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिद्दी बच्चे की तरह व्यवहार न करे विपक्ष: प्रणब

केंद्रीय वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी के भविष्य को लेकर लोकसभा में हंगमा कर रहे विपक्षी दलों के सदस्यों से कहा कि वे 'जिद्दी बच्चों' की तरह व्यहार कर रहे हैं।

मुखर्जी ने रेल बजट तैयार करने की जिम्मेदारी भी ली और कहा कि रेल मंत्रालय को इसके लिए केवल उनकी सहमति की जरूरत थी, यहां तक कि प्रधानमंत्री की सहमति की भी आवश्यकता नहीं है। किराया वृद्धि की घोषणा के कारण अपनी ही पार्टी तृणमूल कांग्रेस का विरोध झेल रहे रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी के इस्तीफे की अटकलों के बीच विपक्षी दलों के सदस्य जानना चाहते थे कि क्या वह (त्रिवेदी) पद पर बने हुए हैं?

इस पर मुखर्जी ने कहा कि माफ कीजिएगा, आप जिद्दी बच्चों की तरह व्यवहार कर रहे हैं। जिद्दी बच्चों की तरह नहीं, बल्कि नेता की तरह व्यवहार कीजिए। उन्होंने कहा कि रेल बजट केंद्र सरकार का अधिकार होता है और इसे केंद्रीय वित्त मंत्री की सहमति चाहिए होती है। इसके लिए प्रधानमंत्री की सहमति की भी आवश्यकता नहीं है। केंद्रीय वित्त मंत्री के रूप में मैं इसकी जिम्मेदारी लेता हूं।

मुखर्जी ने यह भी कहा कि रेल बजट अब संसद के पास है और इसे ही सरकार के प्रस्ताव पर निर्णय लेना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जिद्दी बच्चे की तरह व्यवहार न करे विपक्ष: प्रणब