DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किंगफिशर की 30 उड़ानें रद्द

नकदी संकट से जूझ रही किंगफिशर एयरलाइन्स के लिए फिर से संकट पैदा हो गया है क्योंकि वेतन के भुगतान में देरी का विरोध कर रहे कई पायलट और अन्य कर्मचारियों के नहीं आने से उसकी कम से कम 30 उड़ानें रद्द की गईं या दूसरी उड़ानों के साथ जोड़ी गईं।
   
हवाईअड्डा सूत्रों ने बताया कि मुंबई से कम से कम 13 उड़ानें रद्द की गईं जबकि कोलकाता से आज एक भी उड़ान का परिचालन नहीं हुआ। दिल्ली से तय नौ उड़ानों को या तो रदद किया गया या फिर दूसरी उड़ानों के साथ जोड़ा गया। सबसे व्यस्त मुंबई-दिल्ली क्षेत्र में सिर्फ तीन सीधी उड़ानों का परिचालन किया गया जबकि इस वायुमार्ग पर सालाना सात उड़ानों का परिचालन किया जाएगा।
   
उड़ानों के बाधित होने की बात को स्वीकार करते हुए किंगफिशर ने कहा कि वेतन में देरी के कारण कर्मचारियों के विरोध के मद्देनजर कुछ विमानों को रद्द किया गया है। उन्होंने कहा कि आईएटीए से निलंबन के बाद हमारी वितरण क्षमता सीमित होने के कारण यात्रियो की संख्या कम हुई है। ऐसी स्थिति इसलिए पैदा हुई क्योंकि कर विभाग ने हमारे बैंक खातों पर रोक लगा दी है।
   
प्रवक्ता ने कहा कि विमानन कंपनी अपनी तय समयसारणी के अनुरूप करीब 80 फीसदी उड़ानों का परिचालन करेगी। साथ ही इस अस्थाई स्थिति से निपटने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं।
   
आईएटीए द्वारा किंगफिशर को कुछ सुविधाओं से वंचित किए जाने के कारण किंगफिशर को एजेंट के जरिए यात्री और माल बुकिंग में दिक्कत पेश आ रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किंगफिशर की 30 उड़ानें रद्द