DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आस्ट्रेलिया को मजा चखाने के लिये तैयार हैं लक्ष्मण

आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के खिलाफ हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले वीवीएस लक्ष्मण फिर से दुनिया की इस सबसे कड़ी टीम का सामना करने के लिये तैयार हैं। वह आस्ट्रेलिया के इस संभवत: अपने आखिरी दौरे को यादगार बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं।

लक्ष्मण ने कहा कि आप हमेशा मजबूत टीम के खिलाफ खुद को साबित करना चाहते हो। मैं अब तक जितनी भी आस्ट्रेलियाई टीमों के खिलाफ खेला उनमें कई बेहतरीन खिलाड़ी थे और उनका सामना करना हमेशा चुनौती रहा। इससे मुझे हमेशा अच्छा प्रदर्शन करने की प्रेरणा मिली।

भारत अपने दौरे की शुरुआत 26 दिसंबर को मेलबर्न में होने वाले पहले टेस्ट मैच से करेगा और टीम को लक्ष्मण से फिर से उम्दा पारियों की उम्मीद है। आस्ट्रेलिया की टीम भले ही विश्व रैंकिंग में नीचे खिसक गयी हो लेकिन यह 37 वर्षीय कलात्मक बल्लेबाज किसी भी तरह का मुगालता नहीं पालना चाहता है।

उन्होंने विजडन एक्स्ट्रा से कहा कि आस्ट्रेलिया की कभी हार नहीं मानने की प्रवति और आखिर तक जान लगाने के कारण वह सबसे कड़ा प्रतिद्वंद्वी बन जाता है। यहां तक कि अंडर 19 के स्तर पर भी वे इसी तरह की क्रिकेट खेलते हैं। वे बहुत आक्रामक हैं और वे तुरंत ही आपकी कमजोरी का पता लगा देते हैं।

लक्ष्मण ने कहा कि वह हमेशा उन पिचों का लुत्फ उठाते हैं जिनमें गेंद सीधे बल्ले पर आती है। उन्होंने कहा, जिन पिचों पर तेजी और उछाल हो मुझे वहां खेलने में मजा आता है। आस्ट्रेलियाई मैदानों की आउटफील्ड तेज होती है जहां आपको अपने शाट का पूरा फायदा मिलता है।

लक्ष्मण जब आस्ट्रेलिया के सामने होते हैं तो उनका खेल एकदम से बदल जाता है। उन्होंने अब तक आस्ट्रेलिया के खिलाफ 25 टेस्ट मैच में 55.58 की औसत से रन बनाये हैं जिनमें मार्च 2001 में कोलकाता में खेली गयी 281 रन की यादगार पारी भी शामिल है।

आस्ट्रेलिया में लक्ष्मण ने जो 11 टेस्ट मैच खेले हैं उनमें उन्होंने चार शतक जमाये है। इनमें तीन शतक उन्होंने सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर लगाये हैं। मेलबर्न में हालांकि उन्हें खुद को साबित करना है जहां वह केवल 18.50 की औसत से ही रन बना पाये हैं। लक्ष्मण का आस्ट्रेलियाई क्रिकेट के प्रति यह प्यार उनके स्कूली दिनों से चला आ रहा है। उन्होंने कहा, जब मैं छोटा था तो सुबह लेकर उठकर आस्ट्रेलियाई मैचों का प्रसारण देखा करता था। मुक्षे रिची बेनो, बिल लारी और इयान चैपल को सुनना पसंद था। वे खेल के बारे में बताते थे। वहां रन बनाना वास्तव में बहुत खास होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आस्ट्रेलिया को मजा चखाने के लिये तैयार हैं लक्ष्मण