DA Image
23 जनवरी, 2020|3:27|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुडनकुलम रिएक्टर को मिल सकता है एक साल का लाइसेंस

परमाणु ऊर्जा विनियामक कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा परियोजना की पहली इकाई पर की गई विभिन्न प्रौद्योगिकी जांच एवं रिपोर्ट पर गौर करने के बाद उसे एक साल अथवा पांच साल के लिए संचालन लाइसेंस जारी कर सकता है।

परमाणु ऊर्जा विनियामक बोर्ड के अध्यक्ष एस.एस. बजाज ने मुम्बई से आईएएनएस को फोन पर बताया, ''अपने तरह के इस पहले रिएक्टर की शुरुआत को लेकर मंजूरी देने से पहले विभिन्न जांच और रिपोर्ट का अध्ययन किया जाएगा। जांच के परिणामों पर गौर करने के बाद इस पर विचार किया जाएगा कि इसे एक साल अथवा पांच साल का संचालन लाइसेंस जारी किए जाए। ''

देश के परमाणु ऊर्जा संयंत्र संचालक न्यूक्लीयर पावर कारपोरेशन आफ इंडिया लि. (एनपीसीआईएल) तमिलनाडु के कुडनकुमल में रूस निर्मित दो वीवीईआर 1000 रिएक्टर की मदद से कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा परियोजना स्थापित कर रही है।

परियोजना की पहली इकाई में अगले चरण का काम शुरू कर दिया गया है। परमाणु ऊर्जा विनियामक बोर्ड ने 10 अगस्त को रिएक्टर में 163 गठरी संवर्धित यूरेनियम ईंधन डालने की मंजूरी दे दी थी। 

बजाज ने कहा, ''ईंधन डाले जाने के बाद एनपीसीआईएल कुछ निश्चित जांच करेगी और इस जांच के परिणाम के आधार पर मंजूरी प्रदान की जाएगी। इसके बाद चरणों में ऊर्जा उत्पादन की मंजूरी दी जाएगी और रिएक्टर 100 प्रतिशत संचालनीय हो जाएगा।''

परमाणु ऊर्जा विनियामक बोर्ड इसके बाद एनपीसीआईएल को कुडनकुलम परियोजना की पहली इकाई के लिए संचालन लाइसेंस जारी करेगा। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:कुडनकुलम रिएक्टर को मिल सकता है एक साल का लाइसेंस